ताज़ा खबर
 

मनोहर पर्रिकर का वादा: 2 साल में भारतीय वायु सेना में शामिल हो जाएंगे ‘रफाल जेट’

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने फ्रांस के साथ हुई रफाल फाइटर जेट डील की खूब तारीफ की। उन्होंने इस सौदे को बेहतरीन निर्णय बताया और कहा कि ये सौदा बेहतर शर्तों पर किया गया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ही फ्रांस के साथ 36 तैयार रफाल विमानों के सौदे पर […]
Author April 11, 2015 15:30 pm
मोदी ने फ्रांस की यात्रा पर रवाना होने से पहले ही फ्रांसीसी रक्षा कंपनी डैसल्ट राफेल और हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के बीच पिछले 3 सालों से जारी सौदे से जुड़ी बातचीत को दरकिनार कर सीधे सरकार से विमान सौदे के बारे में बात करने का निर्णय लिया था। (फोटो: रॉयटर्स)

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने फ्रांस के साथ हुई रफाल फाइटर जेट डील की खूब तारीफ की। उन्होंने इस सौदे को बेहतरीन निर्णय बताया और कहा कि ये सौदा बेहतर शर्तों पर किया गया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ही फ्रांस के साथ 36 तैयार रफाल विमानों के सौदे पर हस्ताक्षर किए हैं।

पर्रिकर ने कहा, भारत ने आखिरकार सौदे को लेकर सफलता हासिल कर ली, जो पिछले कई सालों से लंबित थी। उन्होंने कहा कि रफाल जेट को करीब दो साल की अवधि में भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया जाएगा।

रफाल लड़ाकू विमान के बारे में बातचीत इसकी कीमत और देसाल्त एविएशन की ओर से सरकारी स्वामित्व वाले हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा बनाए जाने वाले 108 विमानों के लिए गारंटी देने में हिचकिचाहट के कारण फंसी हुई थी।

पीएम मोदी ने कहा, भारत में लड़ाकू विमानों की परिचालन संबंधी महत्वपूर्ण जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मैंने उनसे (ओलांद) बातचीत की और आग्रह किया कि सौदे के तहत उड़ान भरने के लिए तैयार स्थिति लायक 36 राफेल लड़ाकू विमान जितनी जल्दी हो सके, मुहैया कराएं।

पीएम मोदी ने कहा कि फ्रांस के सहयोग से भारत में तकनीक का विकास होगा और दोनों देश विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग का दायरा बढ़ाएंगे। फ्रांस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन किया है।

रक्षा मंत्री,मनोहर पर्रिकर,फ्रांस,रफाल फाइटर जेट,नरेंद्र मोदी,Rafale Fighter Jets,Air Force,Defence Minister,Manohar Parrikar भारतीय वायु सेना में दो साल में शामिल हो जाएंगे रफाल जेट : पर्रिकर

 

इससे पूर्व, फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने सीईओ फोरम में घोषणा की कि फ्रांस, भारत में दो अरब यूरो निवेश करेगा। फ्रांस के निवेशकों को आमंत्रित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “भारत से बड़ा कोई अन्य बाजार नहीं है। यह पिछले छह महीने में तेजी से वृद्धि दर्ज करने वाली अर्थव्यवस्था हो गई है। विश्व बैंक, मूडी जैसी अन्य एजेंसियों ने एक स्वर से कहा है कि भारत सबसे तेज गति से बढ़ता राष्ट्र है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, ऐसा देश पाना दुर्लभ है, जहां सरकार विकास को प्रतिबद्ध हो, साथ ही आबादी का लाभ भी हो। निवेशक आमतौर पर बौद्धिक संपदा की सुरक्षा को लेकर चिंतित रहते हैं। केवल भारत जैसा लोकतंत्र ही इसकी गारंटी दे सकता है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग