ताज़ा खबर
 

नक्सलियों के गढ़ दंतेवाड़ा पहुंचे नरेंद्र मोदी, दो बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में की जा रही सामाजिक-आर्थिक विकास पहलों का जायजा लेने वहां जायेंगे...
Author May 9, 2015 12:57 pm
पूनिया ने दावा किया कि केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद से दलितों के खिलाफ घटनाएं बढ़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी घटनाओं में इजाफा हुआ है। (फाइल फोटो पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में की जा रही सामाजिक-आर्थिक विकास पहलों का जायजा लेने वहां पहुंचे।

राज्य सरकार के अधिकारियों ने बताया कि विशाल इस्पात संयंत्र लगाने के लिए दो बड़ी परियोजनाओं और रावघाट-जगदलपुर रेल लाइन का मोदी की यात्रा के दौरान उद्घाटन किया जाएगा।

अधिकारियों के मुताबिक प्रधानमंत्री शिक्षा नगर, जिसका लक्ष्य इलाके के दबे कुचले बच्चों को शिक्षा प्रदान करना है, जायेंगे। वह वहां बच्चों से बातचीत भी करेंगे।

शिक्षानगर 100 एकड़ क्षेत्र में फैला है और उसके निर्माण पर 120 करोड़ रुपए की लागत आई है। उसमें आवास एवं कक्षाओं की सुविधाए हैं। अनुमान है कि इस शिक्षानगर से हर साल दबे कुचले वर्गों के 5000 बच्चों को उत्तम शिक्षा प्राप्त होगी।

मोदी जीविका कॉलेज भी जाएंगे जो दंतेवाड़ा के युवकों को उपयुक्त रोजगार अवसर उपलब्ध कराने में उन्हें सहयोग पहुंचाने के लिए जरूरी कौशल प्रदान कर रहा है।

नक्सलवाद से बुरी तरह प्रभावित दंतेवाड़ा बस्तर क्षेत्र में आता है जहां प्रचुर खनिज संसाधन विशेषकर लौह अयस्क हैं। इस इलाके में अतीत में कई नक्सली हमले हो चुके हैं।

मोदी की यात्रा के दौरान दंतेवाड़ा के डिलमिली में सलाना 30 लाख टन क्षमता वाला विशाल इस्पात संयंत्र लगाने के लिए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

अधिकारियों के अनुसार इस परियोजना के जरिए छत्तीसगढ़ का 18,000 करोड़ रुपए से ज्यादा का सीधा निवेश होगा। परियोजना से इस क्षेत्र के 10 हजार से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।

रावघाट और जगदलपुर के बीच रेललिंक के दूसरे चरण के लिए दूसरे सहमति पत्र पर मोदी की यात्रा के दौरान हस्ताक्षर होंगे। 24000 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 140 किलोमीटर रेल लिंक से बस्तर क्षेत्र रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग जैसे राज्य के अहम शहरों से जुड़ जाएगा। रेल लिंक से उद्योगों के लिए लौह अयस्क की आसान एवं सस्ती ढुलाई में भी मदद करेगा।

अधिकारियों के अनुसार इन दोनों परियोजनाओं से बस्तर के सामाजिक आर्थिक बदलाव में बड़ी तेजी से सहयोग मिलने की संभावना है।

रावघाट-जगदलपुर लाइन के दूसरे चरण के लिए पहले सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए थे लेकिन धनाभाव के कारण उसे टाल दिया गया था।

मोदी उसी दिन भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान और पुलिस मुख्यालय का उद्घाटन करने नया रायपुर जायेंगे। वह नया रायपुर में हाशिये पर रहने वालों के लिए 40 हजार एलआईजी और एडब्ल्यूएस सस्ते मकानों के निर्माण के लिए आधारशिला भी रखेंगे।

इसी बीच दंतेवाड़ा में प्रधानमंत्री की यात्रा के मद्देनजर कई स्तरीय सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा इंतजाम पर नजर रख रहे एक पुलिस अधिकारी ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘राज्य के सशस्त्र और विशेषबलों के अलावा करीब 10 हजार अर्द्धसैनिक बल दंतेवाड़ा में प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए अभेद्य सुरक्षा उपाय का हिस्सा हैं।’’

उन्होंने बताया कि विशेष सुरक्षा समूह के अधिकारी राज्य पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारियों के साथ तालमेल बिठाकर सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे हैं।

उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर प्रधानमंत्री की दंतेवाड़ा यात्रा के समापन तक के लिए इलाके के सभी साप्ताहिक हाट बाजार बंद कर दिए गए हैं और रणनीतिक स्थानों पर सशस्त्र गार्ड तैनात किए गए हैं।

अधिकारी के अनुसार अंदरूनी वन क्षेत्रों और अंतर-राज्यीय सीमाओं पर संदिग्ध हरकतों पर अंकुश रखने के लिए गश्ती तेज कर दी गयी है। उन्होंने कहा, ‘‘बहुतस्तरीय सुरक्षा जवानों की प्रधानमंत्री के हर कार्यक्रम पर पैनी नजर रहेगी।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. V
    VIJAY LODHA
    May 9, 2015 at 1:34 pm
    छत्तीसगढ़ की राजधानी में प्रधानमंत्रीजी की विशाल सभा के लिए बनाये जा रहे जिस डोम को बारिश और तूफान से भी बेअसर होने के दावे किये जा रहे थे, हवा के एक झोंके से ही उसके ढह जाने ने राजधानी के लोगों को प्रधानमंत्रीजी के दीदार से और उन्हें सुनने से तो वंचित किया ही, यह सवाल भी मौजू कर दिया कि अब फिजूल हो गए करोड़ों रुपयों के खर्च के लिए कौन जिम्मेदार है.....
    (0)(0)
    Reply
    1. V
      VIJAY LODHA
      May 9, 2015 at 9:56 am
      माननीय प्रधानमंत्रीजी, वर्षों से नक्सलवाद की त्रासदी से जूझ रहे छत्तीसगढ़ को संजीदा होते जा रही इस समस्या से अब निजात दिला दीजिये.
      (0)(0)
      Reply