ताज़ा खबर
 

प्याज के दामों में भारी बढ़ोतरी, नई कीमत सुनकर आ सकते हैं आंखों में आंसू

आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में सूखे की स्थिति के कारण प्याज की कीमतों में इतना उछाल आया है।
प्याज उत्पादक राज्यों के होलसेल और रिटेल बाजारों में भी इसकी कीमतें बहुत ज्यादा हैं।

प्याज की नई कीमतें सुनकर आपकी आंखों में आंसू आ सकते हैं। जी हां प्याज के दामों में बेहिसाब बढ़ोतरी हुई है। आमतौर पर 20-30 रुपये में बिकने वाली प्याज अब 100 रुपये किलो में बिक रही है। मलयालम मनोरमा की रिपोर्ट के मुताबिक केरल के होलसेल मार्केट में प्याज 90 रुपये प्रतिकिलो के रेट पर बिक रही है, वहीं रिटेल की दुकानों पर इसका दाम 100 रुपये है। आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में सूखे की स्थिति के कारण प्याज की कीमतों में इतना उछाल आया है। फिलहाल राज्यों में सूखे से निपटने के कोई हालात नजर नहीं आते, इसलिए प्याज के दामों में और बढ़ोतरी हो सकती है। प्याज उत्पादक राज्यों के होलसेल और रिटेल बाजारों में भी इसकी कीमतें बहुत ज्यादा हैं।

इससे पहले अप्रैल में तमिलनाडु के त्रिची जिले में छोटी प्याज के दाम 70 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए थे। यहां कुछ महीनों दाम 25 रुपये के आसपास थे। लेकिन अचानक कीमतें शहर में 68-70 रुपये तक पहुंच गई थीं। शानमुगानगर में एक गृहणी वाई भुवाना ने कहा था कि मिडिल क्लास के लिए इस कीमत पर प्याज खरीदना संभव नहीं है। इसलिए मैंने प्याज का इस्तेमाल सीमित कर दिया है। तमिलनाडु के प्याज व्यापारी ने कहा था, अगर राज्य में सूखे की यही स्थिति रही तो कीमतों में और उछाल आ सकता है। तमिलनाडु में नामाक्कल, थूरैयार, पेरामबलूर जिलों से प्याज की सप्लाई होती है। वहीं राज्य के गांधी मार्केट में भी सप्लाई में कमी देखी गई थी। अप्रैल से दो महीने पहले जहां इस मंडी में 300 टन प्याज की सप्लाई होती थी, वह घटकर 100 टन रह गई थी।

इसी महीने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक प्याज में नुकसान को देखते हुए किसान अब अन्य फसलों का रुख कर रहे हैं। इंदौर में हॉर्टिकल्चर के डिप्टी डायरेक्टर डीआर जाटव ने कहा था, पिछले साल मिली प्याज की कम कीमत के कारण किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। किसान अपनी लागत भी निकाल नहीं पाए थे। इसलिए अब वे प्याज की खेती छोड़कर अन्य फसलें उगाने पर विचार कर रहे हैं।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग