January 23, 2017

ताज़ा खबर

 

जुलाई के बाद राष्ट्रपति भवन में नहीं रह पाएंगे प्रणब मुखर्जी, सरकार ने फाइनल किया उनका नया आशियाना

देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति भवन में दूसरा कार्यकाल नहीं मिलने के साफ संकेत मिले हैं। सरकार ने रिटायरमेंट के बाद उनके नए घर का चयन कर लिया है। जुलाई 2017 में मुखर्जी का कार्यकाल खत्म हो रहा है।

Author नई दिल्ली | October 4, 2016 08:33 am
राष्‍ट्रपति पद का कार्यकाल पूरा होने के बाद प्रणव मुखर्जी कलाम रोड पर बंगला नंबर 34 में रहेंगे। (Express Photo:Renuka Puri)

देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति भवन में दूसरा कार्यकाल नहीं मिलने के साफ संकेत मिले हैं। सरकार ने रिटायरमेंट के बाद उनके नए घर का चयन कर लिया है। जुलाई 2017 में मुखर्जी का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इसके बाद वह एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर स्थित 34 नंबर बंगले में रहेंगे। फिलहाल यह बंगले लोकसभा के पूर्व स्पीकर दिवंगत पी संगमा को आवंटित है। जिसे रिटायरमेंट के बाद प्रबण मुखर्जी को दिया जाएगा। साल 2012 में पी संगमा को हराकर प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति बने थे।

सरकार की ओर से मुखर्जी के लिए फाइनल किए गए इस आशियाने में संगमा का परिवार रहता है। संगमा के बेटे कॉनराड (Conrad) मेघायल की तुरा सीट से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं। लेकिन यह उनका पहला कार्यकाल है इसलिए उन्हें टाइप-VIII प्रॉपर्टी नहीं दी जा सकती है, क्योंकि यह उच्चतम श्रेणी के सरकार आवास की कैटेगरी में आता है। शहरी विकास मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक संगमा के परिवार को यह आवास खाली करना होगा। राष्ट्रपति भवन के अधिकारियों ने रिटायमेंट के बाद राष्ट्रपति के लिए आवंटित आवास पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है।

शहरी विकास मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि हमारे पास टाइप-VIII बंगलों की संख्या ज्यादा नहीं है। राष्ट्रपति के रिटायरमेंट में अभी समय है। हम संगमा फैमिली से इस बंगले को खाली करने का आग्रह करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर मुखर्जी की ओर से बंगले में किसी तरह की सुधार की बात कही जाती है तो उसे किया जाएगा हालांकि इस संबंध में अभी हमे कोई जानकारी नहीं मिली है। संगमा की 68 साल की उम्र में 4 मार्च को निधन हो गया था। उनके पीछे उनके परिवार में बेटी अगाथा संगमा और बेटे जेम्स और कॉनराड है।

READ ALSO:  जानिए आखिर अपने शपथ लेने से पहले प्रणब मुखर्जी ने अपनी बेटी को क्यों भेजा था राष्ट्रपति भवन?

गौरतलब है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 25 जुलाई, 2012 को भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में पदभार ग्रहण किया। इससे पहले सरकार में रहकर मुखर्जी विदेश, रक्षा, वाणिज्य और वित्त मंत्रालय जैसे अहम महकमे संभाल  चुके हैं। उन्हें 1969 से पांच बार संसद के उच्च सदन (राज्य सभा) के लिए और 2004 से दो बार संसद के निम्न सदन (लोक सभा) के लिए चुना गया।

READ ALSO:  प्रतिभा पाटिल, प्रणब मुखर्जी से लेकर ओबामा तक को खिलाया है खाना, मिल चुका है इंडिया के बेस्‍ट शेफ का अवॉर्ड

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 4, 2016 8:23 am

सबरंग