ताज़ा खबर
 

कोलकाता में गरमाया JNU जैसा मामला, JU में मिला ‘Freedome’ की अपील वाला पोस्टर

जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू) में अफजल गुरु के पक्ष में नारेबाजी के एक दिन बाद बुधवार को परिसर में कश्मीर, मणिपुर और नगालैंड की आजादी की अपील करता हुआ पोस्टर मिला।
Author कोलकाता | February 18, 2016 03:29 am
(Express PHOTO)

जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू) में अफजल गुरु के पक्ष में नारेबाजी के एक दिन बाद बुधवार को परिसर में कश्मीर, मणिपुर और नगालैंड की आजादी की अपील करता हुआ पोस्टर मिला। वहीं दो प्रतिद्वंद्वी छात्र संगठनों ने विश्वविद्यालय परिसर में रैलियां निकाली। एक पोस्टर में लिखा था, ‘हमें क्या चाहिए- आजादी। कश्मीर की आजादी। मणिपुर की आजादी। नगालैंड की आजादी।’

सभी पोस्टरों पर ‘रेडिकल’ नाम के एक समूह का हस्ताक्षर है। दोनों छात्र संगठनों और प्रशासन ने ऐसे पोस्टरों से खुद को अलग कर लिया है। कुलपति सुरंजन दास ने बताया, ‘ये छुटभैये तत्व हैं। मैंने सुबह में छात्र संगठन के नेताओं से मुलाकात की और उन लोगों ने मुझे बताया कि देश विरोधी नारे से वे खुद को अलग करते हैं।’

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के विरोध में जेएनयू के छात्रों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए जादवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों ने कल एक रैली निकाली जिसमें संसद हमले के दोषी अफजल के समर्थन में नारेबाजी की गई। दास ने कहा कि उन्होंने कुछ छात्र नेताओं को रैली में कल जाते देखा था, जिसमें अफजल के समर्थन में नारेबाजी हुई थी।

दास ने कहा, ‘कुलपति होने के नाते यह देखना मेरी जिम्मेदारी है कि छात्रों को प्रदर्शन का अधिकार हो, उनकी बोलने और अभिव्यक्ति की आजादी का संरक्षण हो।’ क्या इस मुद्दे पर विवविद्यालय पुलिस में कोई शिकायत दर्ज कराएगा, उन्होंने कहा कि सवाल ही नहीं उठता। दास ने कहा, ‘विश्वविद्यालय में पुलिस की भूमिका नहीं है। मैं कैम्पस में कभी भी पुलिस को नहीं बुलाऊंगा।’

छात्र संगठन फोरम आॅफ आर्ट स्टूडेंट्स के नेता सौनक मुखर्जी ने कहा कि पोस्टर छात्रों का बहुसंख्यक विचार नहीं प्रदर्शित करता। उन्होंने कहा, ‘हम इसके खिलाफ हैं।’ इसी बीच दो प्रतिद्वंद्वी छात्र संगठनों ने कैंपस में रैलियां निकाली। एक समूह ने ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए और कल की रैली के खिलाफ चिंताएं जताई। इसके जवाब में अन्य छात्रों ने एक रैली निकाली।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग