December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

बीजेपी सांसदों-विधायकों को पीएम नरेंद्र मोदी का फरमान- 8 नवंबर से 31 दिसंबर के बीच बैंक ट्रांजेक्‍शन का ब्‍यौरा भेजें

बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि लोकसभा में पेश किया गया आईटी संशोधन विधेयक काले धन को सफेद में बदलने के लिए नहीं, बल्कि गरीबों से लूटी गई राशि का उन्हीं के कल्याण में इस्तेमाल करने के लिए है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर को 500 और 1000 के नोट बंद करने की घोषणा की। ((AP Photo/Saurabh Das, File Photo)

कर चोरी और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने की अपनी प्रतिबद्धता का संकेत देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी सांसदों को अपने बैंक ट्रांजेक्शन से जुड़ी जानकारियां पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के पास जमा कराने के लिए कहा है। पीएम मोदी के आदेश के मुताबिक 8 नवंबर से 31 दिसंबर तक के सभी बैंक ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड्स अमित शाह के पास जमा कराने है। पीएम मोदी का यह आदेश सांसदों के अलावा बीजेपी के सभी विधायकों के लिए भी है। 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़े नोटों के अमान्य होने की घोषणा की थी जबकि 31 दिसंबर बैंकों में पुराने नोट जमा करने की डेडलाइन है। बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि लोकसभा में पेश किया गया आईटी संशोधन विधेयक काले धन को सफेद में बदलने के लिए नहीं, बल्कि गरीबों से लूटी गई राशि का उन्हीं के कल्याण में इस्तेमाल करने के लिए है।

हाल ही में केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा के बेटे की शादी को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने निशाना साधा था। उन्होंने अपने ट्वीट में केंद्रीय मंत्री से सवाल करते हुए लिखा था कि नोटबंदी के बाद शादी के खर्चों को पूरा करने के लिए महेश शर्मा कैसे पेमेंट कर रहे हैं। केजरीवाल ने आगे लिखा- “भाजपा सांसद महेश शर्मा की बेटी की शादी है। क्या सारी पेमेंट चेक से कर रहे हैं? क्या ढाई लाख रुपए में शादी कर रहे हैं? उनके नोट कैसे बदले गए? इसके जवाब में महेश शर्मा ने भी ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- “अरविंद केजरीवाल अपने तथ्य सही करें और फिर बात करें। उन्होंने लिखा कि उनकी बेटी की नहीं बल्कि उनके बेटे की शादी हो रही है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि शादी के सारे खर्चों की सारी पेमेंट बैंक के जरिए की जा रही है।”

गौरतलब है कि नोटबंदी का असर शादियों पर पड़ने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोगों को शादी में चेक के जरिए पेमेंट करने को कहा था। हालांकि कि सरकार ने बाद में शादीवाले परिवारों के लिए पैसे निकालने की लिमिट को बढ़ाकर ढाई लाख कर दिया था।

वीडियो: टूटने के कगार पर शादी, कार्ड दिखाने के बावजूद बैंक मैनेजर ने कहा- नहीं दे सकते ढाई लाख

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 12:03 pm

सबरंग