ताज़ा खबर
 

आम आदमी की तरह साधारण ट्रैफिक से एयरपोर्ट पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का किया स्वागत

सरकार की तरफ से केन्द्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो को शेख हसीना का स्वागत करने के लिए अधिकृत किया गया था लेकिन पीएम मोदी खुद ही वहां पहुंच गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उस वक्त सबको आश्चर्यचकित कर दिया जब वो बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के पीएम आवास 7 लोक कल्याण मार्ग से सीधे नई दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच गए। वहां पहुंचकर उन्होंने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का स्वागत किया। अमूमन प्रधानमंत्री मोदी का काफिला तय कार्यक्रम के मुताबिक ही निकलता है लेकिन आज वो दिल्ली की सड़क पर बिना किसी रोक-टोक के प्रोटोकॉल को तोड़ते हुए एक आदमी की तरह साधारण ट्रैफिक से एयरपोर्ट पहुंचे। हालांकि सरकार की तरफ से केन्द्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो को शेख हसीना का स्वागत करने के लिए अधिकृत किया गया था लेकिन पीएम मोदी खुद ही वहां पहुंच गए।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक पीएम मोदी को दिल्ली एयरपोर्ट तक पहुंचने के लिए ट्रैफिक का डायवर्जन नहीं किया गया था और वे सामान्य ट्रैफिक में ही नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे।

पीएम शेख हसीना चार दिनों की यात्रा पर भारत पहुंची हैं। इस दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच 35 समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है। इस दौरे में पीएम मोदी बांग्लादेश को 325 अरब डॉलर का कर्ज देने की घोषणा कर सकते हैं। ये कर्ज आसान शर्तों और किश्तों पर भारत बांग्लादेश को देगा। इसके अलावा त्रिपुरा से ढाका तक हाई स्पीड डीजल सप्लाइ के लिए पाइप लाइन बिछाने की योजना पर भी चर्चा होगी। इन मुद्दों के अलावा भारत बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हो रहे हमले का मुद्दा भी उठा सकता है और इस मामले में बांग्लादेश सरकार से उनकी सुरक्षा की मांग कर सकता है।

दोनों देशों के बीच एक अहम मुद्दा तीस्ता नदी के जल बंटवारे को लेकर भी है। इस मुद्दे पर भी दोनों देशों के बीच चर्चा होने की उम्मीद है। भारत और बांग्लादेश के कई शहरों को रेल और सड़क मार्ग से जोड़ने की योजना है। दोनों देश इस प्रस्ताव को भी आगे ले जाने पर चर्चा कर सकते हैं।

वीडियो: GST से जुड़े 4 बिल लोकसभा में पास होने पर पीएम मोदी ने देशवासियों की दी बधाई; कांग्रेस ने पूछा- "12 लाख करोड़ रुपए के नुकसान की भरपाई कौन करेगा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Ajit Rajput
    Apr 7, 2017 at 4:20 pm
    sir samjaute aise kare ki bharat ko bhavishya ki drusti se fayada ho. hinduo ki islamic desh me bahut dayaniya parasthiti hai, usk liye jaldi se kadam uthaye, unke haq unhe nahi mil pa rahe hai, unhe zayada taklif hai to bharat ki nagarikta jaldi se jaldi di jaye. ya fir dohari nagrikta.
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      manish agrawal
      Apr 7, 2017 at 2:05 pm
      Modiji Raja nahi faqeer hain , Hindostan ki taqdeer hain !
      (0)(0)
      Reply
      सबरंग