ताज़ा खबर
 

इस जन्मदिन पर कई रिकॉर्ड बनाएंगे नरेंद्र मोदी, गिनीज बुक में दर्ज होगा नाम

17 सितंबर को है पीएम नरेंद्र मोदी का जन्मदिन। इस मौके पर गुजरात के नवसारी में एक कार्यक्रम में होंगे शामिल।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

शनिवार (17 सितंबर) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 66वें जन्मदिन पर सरकार विश्व रिकॉर्ड बनाना चाहती है। इसी मकसद से 17 सितंबर को पीएम मोदी अपने गृह प्रदेश गुजरात स्थित नवसारी में 11 हजार विकलांगों को विभिन्न तरह के सहायक उपकरण और अन्य मदद देंगे। अगर ऐसा होता है तो पीएम मोदी एक ही साथ सर्वाधिक विकलांगों को सहायता उपलब्ध कराने का विश्व रिकॉर्ड बना सकते हैं। सरकार कार्यक्रम की समुचित वीडियोग्राफी कराएगी। ब्रिटेन से आने वाले गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अधिकारी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

पीएम मोदी के जन्मदिन पर सरकार तीन अन्य विश्व रिकॉर्डों पर भी नजर रखे हुए है। इनमें एक ही समय में विकलांगों द्वारा 1000 दिए जलाने का रिकॉर्ड, व्हील चेयर पर सवाल 1000 लोगों द्वारा व्यूह-रचना और 1000 बधिरों को कान की मशीन देने का रिकॉर्ड बनाने की भी तैयारी है। विकलांगों द्वारा एक हजार दिए जलाने का प्रदर्शन पहली बार किया जाएगा। जबकि विकलांगों द्वारा व्यूह-रचना का रिकॉर्ड अमेरिका के पास है जहां 346 विकलांगों ने ऐसा प्रदर्शन किया था।

वहीं एक साथ सर्वाधिक बधिरों को कान की मशीन देने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पास है। वहां 500 लोगों को एक साथ ये मशीन दी गई थी। पीएम के जन्मदिन पर ये सारे कार्यक्रम सामाजिक कल्याण मंत्रालय और अधिकारिता मंत्रालय का दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग करेगा। विभाग के सचिव अश्विनी कुमार अवस्थी ने मीडिया से कहा, “हम ये रिकॉर्ड समारोह लोगों के विचार बदलने और जागरूकता पैदा करने के लिए कर रहे हैं।” कार्यक्रम में सामाजिक कल्याण मंत्री थावर चंद गहलोत और बीजेपी के स्थानीय सांसद सीआर पाटिल भी शामिल होंगे। नवसारी में होने वाले इस कार्यक्रम में विकलांगों को ट्राईसाइकिल, व्हीलचेयर, सेरेब्रल पॉल्सी चेयर, मल्टी-सेंसरी इंटीग्रेटेड एजुकेशनल डेवलपमेंट (एमएसआईईडी) किट, कैलिपर्स और प्रोस्थीसिस देंगे। कार्यक्रम में 11,223 लाभार्थियों को लोन का चेक भी दिया जाएगा। कार्यक्रम में सरकार करीब  7.5 करोड़ रुपये की मदद सामग्री वितरित करेगी।

इस साल जनवरी में भी सरकार ने ऐसा ही रिकॉर्ड बनाने की कोशिश की थी लेकिन उसे सफलता नहीं मिली थी। इस साल जनवरी में पीएम मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 10,200 विकलांगों को सहायता उपलब्ध कराकर रिकॉर्ड बनाने की कोशिश की थी लेकिन तब गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अधिकारी कार्यक्रम के वीडियो से संतुष्ट नहीं हुए थे। इसीलिए इस बार सरकार कोई कमी नहीं छोड़ना चाहती।

खिलौने के रूप में आए पीएम नरेंद्र मोदी, अमे‍जन पर बिक रहा है ये सॉफ्ट टॉय

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Taranpreet Khurana
    Sep 15, 2016 at 7:13 pm
    जी हाँ सबसे महंगा पेट्रोल बेच कर ..हम सभ बहुत खुश है हमारे अच्छे दिन आ गए हैं,,,हमने यही सोचा था की हम महज कपडे पहने महँगा कहना खाये, मात्र दो साल मैं ही हो गया धन्यवाद् प्रधान मंत्री जी,,ऐसे ही आगे बढ़िए स्लोगन देते देते...अगले दो तीन साल मैं आप और तर्रक्की क़ारेईन...
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग