ताज़ा खबर
 

स्वच्छ भारत के लिए नरेंद्र मोदी ने सभी 56 मंत्रियों से मांगा दो साल का प्लान, नजर रखने के लिए बनाई सचिवों की समिति

सभी 56 मंत्रियों को साल 2017 में एक विशिष्ट पखवाड़ा (समय) दिया जाएगा जिसके अंतर्गत मंत्रियों को अभियान के बारे में लोगों को जागरुक करना होगा।
खुद झाड़ू लगाकर स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत करते पीएम मोदी (फाइल फोटो)

अपनी महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत अभियान को प्रोत्साहन देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सभी मंत्रियों से दो साल का ‘स्वच्छता एक्शन प्लान’ बनाने को कहा है। सभी 56 मंत्रियों को 2017-18 और 2018-19 के लिए यह स्वच्छता एक्शन प्लान बनाना होगा और देखना होगा कि अभियान का कार्यान्वयन सही ढंग से हो रहा है या नहीं। इसके अलावा नजर रखने के लिए केबिनेट सेक्रेटरी के अतंर्गत सचिवों की समिति भी बनाई गई है। सभी 56 मंत्रियों को साल 2017 में एक विशिष्ट पखवाड़ा (समय) दिया जाएगा जिसे “स्वच्छता पखवाड़ा” कहा जाएगा। इसके अंतर्गत मंत्रियों को अभियान के बारे में लोगों को जागरुक करना होगा और अपने ऑफिस में भी साफ सफाई रखनी होगी।

सूत्रों के मुताबिक, स्वच्छ भारत मिशन के कार्यान्वयन के लिए बनाए गए दो नोडल मंत्रालय (ग्रामीण विकास और शहरी विकास) ने सभी मंत्रियों को अगले दो वित्त वर्ष के लिए इसी महीने के अंदर स्वच्छता एक्शन प्लान भेजने के लिए कहा है। इसके साथ ही संबंधित कार्यक्रमों व प्रस्तावित बजट की लिस्ट भी मांगी है। इसके अंतर्गत सभी मंत्रियों को अपने योजनागत कार्यक्रमों की सूची भेजनी होगी। 2-3 मंत्रालयों की एक ग्रुप बनाया गया है और उन्हें 2017 का एक पखवाड़ा सौंप दिया गया है जिसमें उन्हें स्वच्छता अभियान से जुड़े कार्यक्रम करने होंगे।

सार्वजनिक अवकाश और अवसरों को भी चिन्हिंत कर लिया गया है ताकि विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जा सकें। पहले पखवाड़े की शुरुआत जनवरी से हो जाएगी। इस पखवाड़े के लिए विदेशी मंत्रालय, वित्त मंत्रालय और स्टील मंत्रालय को चुना गया है। वहीं, इससे अगले पखवाड़े में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय व नागर विमानन मंत्रालय होंगे।

राज ठाकरे से मिले शाहरुख खान; विश्वास दिलाया- रईस का प्रमोशन नहीं करेंगी माहिरा खान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग