ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरु स्वामी आत्म आस्थानंद जी महाराज का निधन, ट्वीट कर जताया शोक

रामकृष्ण मठ और मिशन के अध्यक्ष आत्म आस्थानंद जी महाराज का आज यहां लंबी बीमारी के बाद एक अस्पताल में निधन हो गया।
स्वामी आत्म आस्थानंद जी महाराज के साथ पीएम मोदी। (Source: Twitter/@narendramodi)

रामकृष्ण मठ और मिशन के अध्यक्ष आत्म आस्थानंद जी महाराज का लंबी बीमारी के बाद 18 जून को एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 98 वर्ष के थे। उनके नेतृत्व में भारत, नेपाल और बांग्लादेश के विभिन्न हिस्सों में प्राकृतिक आपदा के दौरान बड़े राहत अभियान चलाए गए थे। आत्म आस्थानंद जी का फरवरी 2015 से ही वायु संबंधी बीमारियों का इलाज चल रहा था। रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन, बेलूर मठ ने एक बयान में कहा कि बेहतर इलाज के बाद भी उनकी स्थिति पिछले कुछ सालों में गिरती गयी तथा उनका रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान अस्पताल में शाम में साढ़े पांच बजे निधन हो गया। बयान में कहा गया है कि उनका अंतिम संस्कार कल(19 जून) रात साढ़े नौ बजे बेलूर मठ में किया जाएगा और बेलूर मठ के द्वार आज रात तथा कल उनके अंतिम संस्कार पूरा होने तक खुले रहेंगे।

प्रधानमंत्री ने उनके निधन पर शोक जताते हुए इसे ”व्यक्तिगत नुकसान ” बताया। मोदी अपनी युवावस्था में संन्यासी बनने के लिए बेलूर मठ गए थे लेकिन उनके अनुरोध को स्वीकार नहीं किया गया था और कहा गया था कि उनकी कहीं अन्य स्थान पर जरूरत है। बाद में उन्हें राजकोट, गुजरात में स्वामी आत्म आस्थानंद का आध्यात्मिक मार्गदर्शन मिला। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ  त्रिपाठी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी स्वामीजी के निधन पर शोक जताया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर स्वामी आत्म आस्थानंद की मृत्यु पर शोक जताया। उन्होंने अपने ट्वीट में और भी कई बातें कही। पीएम मोदी ने स्वामी जी के लिए ट्वीट में लिखा- “स्वामी आत्म आस्थानंद जी अतुलनिय ज्ञान और बुद्धिमत्ता के धनी थे। आने वाली पीढ़ियां उन्हें उनके अनुकरणीय व्यक्तित्व के लिए याद रखेंगी।” पीएम ने अपने एक और ट्वीट के जरिए बताया कि जब भी वह कभी कोलकाता जाएंगे तो वहां से बिना स्वामी जी का आशीर्वाद लिए नहीं लौटेंगे। इसके अलावा पीएम ने स्वामी जी के कार्यों को लेकर भी एक ट्वीट किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. T
    Toto
    Jun 19, 2017 at 12:28 pm
    अगर twitter नही होता तो यह शोक जताने कहाँ जाते?
    Reply
सबरंग