January 18, 2017

ताज़ा खबर

 

मोदी ने पुतिन, जिनपिंग समेत ब्रिक्‍स नेताओं को बनाया अपने जैसा, पहनाई ‘स्‍वदेशी जैकेट’!

ब्रिक्स सम्मेलन गोवा के पणजी में 15 अक्तूबर से शुरू हुआ है।

मोदी जैकेट पहने ब्रिक्स नेता। (Photo-Twitter)

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे देशों के प्रतिनिधियों के लिए शनिवार का दिन काफी बिजी रहा। इस दौरान ब्रिक्स नेता मीटिंग्स, मीडिया से बातचीत और उसके अलावा अन्य डील्स के बिजी रहे। बिजी शनिवार के बाद ब्रिक्स नेता एक साथ डिनर के लिए पहुंचे। डिनर के वक्त पहुंचे ब्रिक्स नेताओं में एक बात समान थी कि सभी एक ही डिजाइन की ड्रेस में थे। उन्होंने कुर्ते के साथ कॉटन जैकेट पहनी हुई थी। यह वही जैकेट है जिसे पीएम मोदी पहनते हैं। यह ‘मोदी जैकेट’ के नाम से भी जानी जाती है। ब्रिक्स देशों के नेता, साउथ अफ्रीका के अध्यक्ष जैकब जुमा, रूस के राष्ट्रपति ब्लादमीर पुतिन, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, ब्राजिल के राष्ट्रपति माइकल टेमर और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी होटल ताज एग्जोटिका में डिनर करने पहुंचे थे। डिनर के लिए सेट पणजी से 55 किलोमीटर दूर गोवा के एक बीच पर बनयाा गया था। ब्रिक्स देशों के सभी शीर्ष नेताओं ने एक ग्रुप फोटो भी खिंचवाई।

वीडियो में देखें- पीएम मोदी ने ब्रिक्स नेताओं का किया स्वागत

गौरतलब है कि ब्रिक्स सम्मेलन गोवा के पणजी में 15 अक्तूबर से शुरू हुआ है। ब्रिक्स शिखर सम्मेलन और बिम्सटेक सम्मेलन के इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 द्विपक्षीय मुलाकात करेंगे। जिसमें से रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से द्विपक्षीय वार्ता हो चुकी है। शनिवार को भारत और रूस ने मिसाइल प्रणालियों, जंगी जहाजों की खरीद और हेलीकॉप्टरों के संयुक्त उत्पादन सहित कई बड़े रक्षा सौदों पर हस्ताक्षर किए। इसके अलावा दोनों देशों ने कई सारे अहम क्षेत्रों में सहयोग मजबूत करने पर फैसला किया और एकजुट होकर आतंकवाद की बुराई से लड़ने का संकल्प लिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कई मुद्दों पर वार्ता की। इनमें समूचे द्विपक्षीय संबंध पर वार्ता शामिल हैं।

Read Also:  चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल के प्रधानमंत्री प्रचंड की मीटिंग में अचानक पहुंच गए पीएम मोदी

वहीं शनिवार को पीएम ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से भी बात की। खबरों के मुताबिक, मोदी ने शी जिनपिंग को साफ किया कि आंतक के मुद्दे पर दो देशों को अलग सोच नहीं रखनी चाहिए और चीन को आतंक पर अपना स्टेंड क्लीयर करना चाहिए। मीटिंग में पुतिन ने उरी हमले के बाद भारत द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसकर की गई कार्रवाई (सर्जिकल स्ट्राइक) को भी सही बताया। मोदी ने रूस के साथ हुए समझौते के दौरान कहा था कि दो नए दोस्तों के मुकाबले एक पुराना दोस्त बेहतर होता है। खबर के मुताबिक, मोदी और शी इस बात पर तो एकमत थे कि आतंकवाद एक बड़ी समस्या है।

Read Also: ब्रिक्स सम्मेलन: आतंकवाद पर पीएम मोदी को मिला पुतिन का साथ, चीन ने फिर किया निराश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 16, 2016 7:54 pm

सबरंग