ताज़ा खबर
 

कांग्रेस की पीडीपी को सलाह: भाजपा के राजनीतिक धर्मांतरण से बचे

कांग्रेस ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद को भाजपा की ओर से चलाए जा रहे धर्मांतरण के एजेंडे को लेकर ‘सावधान’ रहना चाहिए। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘‘यह शपथ ग्रहण समारोह कम, जम्मू में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक […]
Author March 2, 2015 08:33 am
गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘‘यह शपथ ग्रहण समारोह कम, जम्मू में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक ज्यादा थी।’’ (फ़ोटो-पीटीआई)

कांग्रेस ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद को भाजपा की ओर से चलाए जा रहे धर्मांतरण के एजेंडे को लेकर ‘सावधान’ रहना चाहिए।

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘‘यह शपथ ग्रहण समारोह कम, जम्मू में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक ज्यादा थी।’’

उन्होंने पहले कहा था कि पीडीपी-भाजपा गठबंधन के सभी फैसले अब नागपुर में लिए जाएंगे। नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का मुख्यालय है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख सैफुद्दीन सोज को छोड़कर कांग्रेस का कोई और नेता आज के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुआ।

आजाद ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘भाजपा के लिए यह धर्मांतरण का युग है, ऐसे में पीडीपी नेतृत्व को पीडीपी से भाजपा के राजनीतिक धर्मांतरण को लेकर सावधान रहना चाहिए।’’

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन को ‘विरोधाभास का गठबंधन’ करार देते हुए कहा कि दोनों पार्टियां कुछ छिपा रही हैं क्योंकि वे शपथ ग्रहण समारोह से पहले साझा न्यूनतम कार्यक्रम के साथ सामने नहीं आईं।

तारिगामी ने फोन पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘पीडीपी ने कहा था कि वे साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर लोगों की राय लेंगे। परंतु उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह से पहले इसे सार्वजनिक नहीं किया। लोग नहीं जानते कि उन्होंने कई मुद्दों पर क्या तय किया है। ऐसे में उनके पास कुछ छिपाने के लिए जरूर है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    Kamlesh Kumar Mishra
    Mar 1, 2015 at 6:28 pm
    आजाद साहब ! नागपुर भारत में ही है। मक्का , मदीना अथवा ब्रिटेन में नहीं।
    (0)(0)
    Reply
    1. K
      Kamlesh Kumar Mishra
      Mar 1, 2015 at 6:35 pm
      भारतीय संस्कृति और सभ्यता पर कई विदेशी बर्बर आक्रमणकारियों ने हे किये थे। वर्तमान पीढ़ी यदि उन आक्रमणों के प्रभावों को मिटाने के प्रयास करती है तो क्या ा करती है।
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        Sanjay Narain
        Mar 2, 2015 at 12:12 pm
        It is very important for the Congress party now to concentrate on themselves instead of looking to others. They are focusing on BJP, Narendra Modi and AAP instead of what is going on in their own party. They have been completely rejected by the people of Delhi in VS elections. This is a very serious matter for the party and they should start the introspection process as soon as possible. I am sure they will very soon come out with full force and fill the gap of opposition in the country.
        (0)(0)
        Reply
        सबरंग