December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

पटना-इंदौर ट्रेन हादसा: 100 से ज्यादा की मौत, डिब्बे काटकर निकाले जा रहे हैं फंसे लोग

हादसा कानपुर से देहात जिले से करीब 100 किमी दूर पुखरायां में सुबह 3 बजे के बाद हुआ।

रविवार तड़के हुए ट्रेन हादसे के बाद बचावकार्य करते अधिकारी। (Photo: PTI)

कानपुर देहात जिले में रविवार तड़के इंदौर-पटना एक्‍सप्रेस ट्रेन (19321) के 14 डिब्बों के पटरी से उतर गई। मिली जानकारी के मुताबिक हादसे में मरने वालों की संख्या 100 पार कर चुकी है, वहीं 150 से ज्यादा घायल हो गए। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) दलजीत चौधरी ने बताया कि दुर्घटना कानपुर देहात जिले से करीब 100 किमी दूर पुखरायां में सुबह 3 बजे के बाद हुई, तब यात्री सो रहे थे। हादसे में ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। सबसे ज्यादा मौते S1 और S2 में हुई हैं। हादसे के दौरान यात्री एक दूसरे के ऊपर आ गिर, और कोच आपस में टकराकर बुरी तरह से पिचक गए।

किसने दिया कितना मुआवजा:

प्रधानमंत्री मोदी ने हादसे में मरे और घायल हुए लोगों के लिए मुआवजे का एलान किया है। पीएम मोदी मृतकों के परिजनों को 2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपए देंगे। वहीं, रेल मंत्रालय ने ऐलान किया है कि मरने वालों के परिवार को रेलवे 3.5 लाख रुपए देगा और गंभीर रूप के घाटल लोगों को 50 हजार रुपए देने की बात कही गई है। मामूली रूप से जख्मी लोगों को 25 हजार रुपए दिए जाएंगे।

इसके अलावा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मरने वाले के परिवार को 2 लाख रुपए और गंभीर रुप से घायल लोगों को 50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है। वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने ट्वीट कर जानकारी दी कि “पुखरायां की ट्रेन दुर्घटना के मृतकों के परिजनों को 5 लाख रु. की आर्थिक सहायता दी जाएगी। गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रु. व घायलों को 25 हजार रु. दिए जाएंगे।”

रेल मंत्री ने दिए जांच के आदेश:

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस रेल हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। प्रभु ने कहा कि हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। राजनाथ सिंह भी सुरेश प्रभु के साथ लगातार संपर्क में हैं। पीएम मोदी ने भी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने लिखा, ‘पटना-इंदौर एक्सप्रेस के पटरी से उतरने पर हुए जानमाल के नुकसान से हुए दुख को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। पीड़ित परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।’ उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ‘ट्रेन हादसे में घायल हुए लोगों के साथ मेरी दुआएं हैं। मैंने सुरेश प्रभु से बात की है, जो खुद इस घटना पर नजर बनाए हुए हैं।’

 

वीडियो में देखिए, किस तरह किया गया बचाव कार्य:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 20, 2016 12:22 pm

सबरंग