ताज़ा खबर
 

मॉनसून सत्र के पहले दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिखाई कूटनीति, विपक्ष नेताओं पर ऐसे जमाया प्रभाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन कार्यवाही शुरू होने से पहले लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित कई विपक्षी सदस्यों का अभिवादन किया।
Author नई दिल्ली | July 20, 2017 12:47 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन कार्यवाही शुरू होने से पहले लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित कई विपक्षी सदस्यों का अभिवादन किया। (File Photo)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन कार्यवाही शुरू होने से पहले लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित कई विपक्षी सदस्यों का अभिवादन किया। कार्यवाही शुरू होने से पांच मिनट पहले सदन में पहुंचे मोदी विपक्षी सदस्यों की तरफ बढ़े और पहली कतार में बैठे विपक्षी नेताओं का अभिवादन किया। पहली कतार में सोनिया गांधी के अलावा, पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी.देवगौड़ा, समाजवादी पार्टी (सपा) नेता मुलायम सिंह यादव, सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुजन खड़गे तथा लोकसभा उपाध्यक्ष एम.थंबीदुरई बैठे थे।

मोदी ने देवगौड़ा, यादव, खड़गे तथा थंबीदुरई से हाथ मिलाया, जबकि सोनिया का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। उन्होंने खड़गे तथा यादव से संक्षिप्त बातचीत भी की। दूसरी कतार में बैठे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी तथा पार्टी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का भी उन्होंने अभिवादन किया। सदन में दाखिल होने के तुरंत बाद मोदी ने हाथ जोड़कर सदस्यों को प्रणाम किया। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) सदस्य रामचंद्र पासवान ने आदरस्वरूप मोदी के पांव छुए।

मोदी के सदन में दाखिल होते ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सदस्य अपनी-अपनी सीटों पर खड़े हो गए और प्रधानमंत्री के बैठने के बाद ही वे अपनी सीटों पर बैठे। इससे पहले दिन में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मोदी ने सभी पार्टियों से देशहित में काम करने की अपील की।उन्होंने उम्मीद जताई कि तीन सप्ताह से लंबे मॉनसून सत्र के दौरान सांसद देश हित में गुणवत्तापूर्ण चर्चा में हिस्सा लेंगे।

 

राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डालने आए मोदी ने कहा, “यह मॉनसून सत्र कई तरह से बेहद खास है, क्योंकि देश अपने नए राष्ट्रपति का निर्वाचन करेगा। मोदी ने कहा, “वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) ने उस अच्छाई को दर्शाया है, जिसे देशहित में सभी दलों के साथ मिलकर काम कर प्राप्त किया जा सका। जीएसटी की भावना हमारी मजबूती के बढ़ने के बारे में है। मुझे उम्मीद है कि जीएसटी के प्रति जो भावना थी, वह सत्र में बरकरार रहेगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह मॉनसून उम्मीदों का सूत्रपात करता है, ‘यह सत्र भी वही उम्मीद लाता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.