December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

पाकिस्तान में योग कैंप लगाने को तैयार हैं रामदेव, बोले- भारत में पाकिस्तानी कलाकारों की सोच करोड़ों कमाकर बिरयानी खाने तक ही सीमित क्यों?

योग गुरु ने पाकिस्तान में भी पतंजलि की यूनिट लगाने की इच्छा जाहिर की और कहा कि पाकिस्तान में होने वाली कमाई को पाकिस्तानी के ही लोगों पर खर्च किया जाएगा।

Author October 20, 2016 08:16 am
बाबा रामदेव। (FilePhoto by Neeraj Priyadarshi/Indian Express)

देशभर में इस समय चीनी सामान का बहिष्कार करने और उससे होने वाले फायदे-नुकसान को लेकर बहस चल रही है। योग गुरु बाबा रामदेव भी उन लोगों मे से हैं जिन्होंने चीनी सामान का बहिष्कार करने की सबसे ज्यादा अपील की है। दरअसल चीन के प्रोडक्ट्स ना खरीदने के पीछे उनका तथ्य है कि “चीन भारत से पैसे कमाता है और फिर उसी पैसे से पाकिस्तान की मदद करता है।” द इंडियन एक्सप्रेस ग्रुप के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनंत गोयनका से बातचीत में बाबा रामदेव ने कहा कि ऐसा करने का उद्देश्य चीन पर सामाजिक-आर्थिक दबाव बनाना है।

भारत में पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन लगाने को लेकर भी उनसे सवाल किया गया। इसपर बाबा रामदेव ने कहा, “कलाकार आतंकवादी नहीं होते हैं, लेकिन क्या उनमें जरा भी मानवता नहीं है? उन्हें सिर्फ अपनी फिल्म से, पैसा कमाने और फिर बिरयानी खाने से मतलब है। उन लोगों ने उरी अटैक और दूसरी आतंकवादी घटनाओं की निंदा क्यों नहीं की?” हालांकि पंतजलि आयुर्वेद के संस्थापक रामदेव ने कहा कि उन्हें मौका मिला तो वो पाकिस्तान जाकर योग जरूर सिखाएंगे।

वीडियो में देखिए, MNS ने दी धमकी- ‘ऐ दिल है मुश्किल’ दिखाई, तो मल्टीप्लेकसों के शीशे तोड़ देंगे

Read Also: पाकिस्तान की नाक तले भारत और चीन का साझा अभ्यास

बता दें कि पतंजलि एक दशक से कम समय में 5,000 करोड़ रुपए की कंपनी बन गई है। योग गुरु ने पाकिस्तान में भी पतंजलि की यूनिट लगाने की इच्छा जाहिर की और कहा कि वह पाकिस्तानी कलाकारों की तरह नहीं करेंगे और वहां से पैसे कमाकर अपने देश नहीं लाएंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में होने वाली कमाई को पाकिस्तानी के ही लोगों पर खर्च किया जाएगा।

Read Also: “जब तक सीमापार आतंकवाद खत्म नहीं होता, पाकिस्तान के साथ कोई मैच नहीं खेलेंगे”: गौतम गंभीर

हाल ही में हुई सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, “बुराई का अंत करना हिंसा नहीं होती। मुझे लगता है मोदी जी दाउद इब्राहिम, मसूद अजहर और हाफिज सईद जैसे लोगों का भी अंत करेंगे। इस तरह देश के लोगों में गरीबी और काले धन को लेकर जो शिकायत है वह मिट जाएगी। मैंने इस संबंध में मोदी जी को ट्वीट भी किया था कि उन्हें बुद्ध और युद्ध को साथ लेकर चलाना चाहिए, क्योंकि क्रांति के बिना शांती नहीं होती।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 20, 2016 7:51 am

सबरंग