January 22, 2017

ताज़ा खबर

 

PAK को डर- भारत फिर से कर सकता है सर्जिकल स्ट्राइक

एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तान को यह डर है कि भारतीय सेना जम्मू सीमा से सटे पीओके के आतंकी लॉन्च पैड पर हमला न कर दें। भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद एलओसी के उस पार स्थित आतंकी लॉन्च पैडों को हटा दिया गया था।

क्या होता है सर्जिकल स्ट्राइक, सेना ने कैसे दिया अंजाम? (फोटो-रायटर्स)

भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक से घबराए पाकिस्तान ने सीमा पर सेना की तैनाती बढ़ा दी है। पाकिस्तान सीमा से सटे इलाकों को खाली करवा रहा है। पाकिस्तान यह कार्रवाई कश्मीर घाटी के बजाए जम्मू से सटी सीमा पर कर रहा है। टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की ओर से की गई यह कार्रवाई, सीमा पर भारतीय सैनिकों की तैनाती बढ़ाने और इंटरनेशनल बॉर्डर के पास बसे जम्मू-पंजाब के नागरिकों को हटाए जाने के बाद देखने को मिली। बता दें सीमा पार से घुसपैठ की आशंका के मद्देनजर भारत ने बॉर्डर पर सेना की तैनाती बढ़़ा दी है।

एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तान को यह डर है कि भारतीय सेना जम्मू सीमा से सटे पीओके के आतंकी लॉन्च पैड पर हमला न कर दे। हालांकि एलओसी पर जिहादियों की बढ़ती गतिविधियों से ऐसा लग रहा है कि आने वाले दिनों में घुसपैठ की घटनाएं बढ़ सकती हैं। यह सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का विषय है।

रिपोर्ट के मुताबिक भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद एलओसी के उस पार स्थित आतंकी लॉन्च पैडों को हटा दिया गया था। संकेत मिले हैं कि 100 के करीब आतंकी लॉन्च पैड के करीब बढ़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि आतंकी सीमा पार करने की तैयारी में हैं। हाल ही में पीओके में स्थित लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों को पाकिस्तानी सेना ने आबादी वाले इलाकों और सेना के बैस कैंप के पास शिफ्ट कर दिया था।

READ ALSO: सर्जिकल स्ट्राइक: भारतीय न्यूज चैनल के स्टिंग को पाकिस्तान ने झुठलाया, कहा- फर्जी है स्टिंग

गौरतलब है कि उरी हमले के बाद भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया था। 27-28 सितंबर की रात को भारतीय सेना ने पीओके में आतंकी लॉन्‍चपैड पर सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी। इसमें बड़ी संख्‍या में आतंकी मारे गए थे। इस कार्रवाई में आतंकियों के बचाने के चलते पाकिस्तान सेना के दो जवान भी मारे गए थे।  भारत की ओर से यह कार्रवाई उरी हमले के जवाब में की गई थी। इस हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के बीच कड़वाहट बढ़ गई है।

READ ALSO: पाकिस्तान की धमकी, बलूचिस्तान पर बोलना बंद करो वरना खालिस्तान और माओवादियों को करेंगे सपोर्ट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 1:26 pm

सबरंग