December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम बोले- नए नोट लाने पर खर्च होंगे 15 से 20 हजार करोड़ रुपए, उस अनुपात में नहीं होगा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात 12 बजे से 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने की घोषणा की थी।

Author दिल्ली | November 9, 2016 17:14 pm
रिजर्व बैंक द्वारा जारी 500 और 2000 के नए नोट।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोट बंद किए जाने के फैसले पर बुधवार को पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया में 15 से 20 हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा। साथ ही चिदंबरम ने कहा कि अगर इसके पीछे अगर सरकार की मंशा कालेधन को खत्म करने की है तो इसे हमारा समर्थन है। मीडिया को संबोधित करते हुए चिदंबरम में कहा, ‘पुराने नोटों को नए नोटों से बदलने की प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी होनी चाहिए, ताकि गरीब लोगों को समस्या कम हो। 1978 में भी बड़े नोट बंद किए गए थे, लेकिन इसमें सफल नहीं रही। नए सीरिज के नोट जारी करने में 15 से 20 हजार करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इसलिए इन नोटों को बंद करने से कम से कम इतना फायदा तो होना ही चाहिए। कई सरकारों ने भी इस बारे में पहले सोचा था, लेकिन उन्होंने इसे लागू नहीं किया क्योंकि इससे फायदा कम होगा और असुविधा ज्यादा होगी।’

वीडियो में देखें- पेट्रोलियम मंत्री ने दी चेतावनी- पेट्रोल पंपों ने नहीं लिए 500, 1000 के नोट तो लेंगे एक्‍शन

साथ ही चिदंबरम ने कहा, ‘हमने कल इस फैसले का समर्थन किया था, लेकिन हमें देखना होगा कि मकसद हासिल हुआ है या नहीं। लोगों ने अघोषित धन कंस्ट्रक्शन और ज्वैलरी में लगा रखा रखा है, यहा नहीं पता कि लोगों के पास कैश कितना होगा। मुझे यह समझ में नहीं आ रहा है कि जब 500 और 1000 रुपए के नोट बंद किए गए हैं तो 2000 रुपए का नोट क्यों लॉन्च किया गया है।’

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद आमजन को काफी असुविधा हो रही है। इसके लिए सरकार ने 11 नवंबर तक कुछ स्थितियों में पुराने नोट चलने देने का एलान किया था। सरकारी अस्‍पतालों व वहां की दवा दुकानों में पुराने 500 या 1000 रुपए के नोट लिए जाएंगे। रेलवे टिकट बुकिंग काउंटर, सरकारी बसों के टिकट बुकिंग काउंटर और हवाई अड्डों पर एयरलाइंस के टिकट बुकिंग काउंटर पर केवल टिकट खरीदने के लिए पुराने नोट इस्‍तेमाल किए जा सकेंगे। केंद्र अथवा राज्‍य सरकार द्वारा प्रमाणित केंद्रीय विक्रय भंडार (सफल, केंद्रीय भंडार आदि) पर भी पुराने नोट 11 नवंबर तक लिए-दिए जा सकेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के पेट्रोल-डीजल, सीएनजी रिटेल आउटलेट पर भी ये नोट 11 नवंबर तक चलेंगे। शवदाह गृहों पर भी 11 नवंबर की रात 12 बजे तक पुराने नोट चलेंगे। अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डों पर विदेश आ-जा रहे लोगों को पांच हजार रुपए तक के नोट बदलने की छूट होगी।

इसके साथ ही परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने बुधवार को घोषणा की कि 11 नवंबर आधी रात तक नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही दिल्ली मेट्रों में भी शनिवार तक पुराने नोट लिए जाने की घोषणा की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 4:20 pm

सबरंग