April 29, 2017

ताज़ा खबर

 

राम किशन ग्रेवाल ने पेंशन अकाउंट पर ले रखा था 3.5 लाख रुपए का कर्ज

पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने अपने पेंशन अकाउंट पर 3.5 लाख रुपए का लोन ले रखा था।

Author November 4, 2016 15:09 pm
राम किशन ग्रेवाल की फाइल फोटो। PTI Photo

पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने अपने पेंशन अकाउंट पर 3.5 लाख रुपए का लोन ले रखा था। इस बात की जानकारी इंडियन एक्सप्रेस को मिली है। राम किशन का वह खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की भिवानी ब्रांच में था उसी खाते में रामकिशन की पेंशन आया करती थी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि हो सकता है कि लोन का पैसा ना चुका पाने से परेशान होकर ही राम किशन ने सुसाइड किया हो। एसबीआई ब्रांच पर पूछताछ से पता चला कि लोन 2015 में लिया गया था। एक अधिकारी ने बताया, ‘मई के आखिर में ग्रेवाल ने अपने पेंशन अकाउंट पर 3.5 लाख रुपए का कर्ज लिया था।’ हालांकि, लोन के पैसे के बारे में रामकिशन के परिवार को जानकारी नहीं है। राम किशन के बेटे जसवंत ने कहा कि उनको बैंक से लिए गए लोन के बारे में कुछ नहीं पता। जसवंत ने कहा, ‘मुझे और मेरे भाईयों को पिताजी के लोन लेने के बारे में नहीं पता।’

वीडियो: OROP को लेकर पूर्व सैनिक के सुसाइड पर चढ़ा सियासी पारा, हिरासत में लिए जाने के बाद छोड़े गए राहुल गांधी

बैंक से यह भी पता लगा कि राम किशन ने वन रैंक वन पेंशन लागू होने से पहले अप्रैल में 21,927 रुपए निकाले थे। वहीं पिछले महीने उन्होंने 22,608 रुपए निकाले थे। जसवंत के मुताबिक, उसके पिता कहते थे कि अगर वन रैंक वन पेंशन को ठीक से लागू किया जाता तो उनकी पेंशन 30 हजार रुपए हो जाती। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए SBI के ब्रांच मैनेजर राम सिंह ने कहा कि अप्रैल के बाद से राम किशन को 22,608 रुपए दिए जा रहे थे। बैंक ने कहा कि उनकी तरफ से किसी तरह की कोई गलती नहीं हुई थी। राम सिंह ने कहा, ‘अप्रैल के बाद से उन्हें सही रकम दी जा रही थी ऐसे में गलत कैल्कूलेशन का मतलब ही नहीं होता। इसके अलावा उन्होंने मौखिक या लिखित रूप से हम लोगों के पास कोई शिकायत दर्ज ही नहीं करवाई।’

Read Also: OROP सुसाइड: अरविंद केजरीवाल ने की पूर्व सैनिक के परिवार को 1 करोड़ रुपए देने की घोषणा

राम सिंह ने आगे बताया कि पेंशन कितनी दी जानी है इसका हिसाब पेंशन पेमेंट ऑर्डर्स (पीपीओ) द्वारा रखा जाता है और वह नियोक्ता द्वारा केन्द्रीकृत प्रसंस्करण प्रकोष्ठ पेंशन को भेजी जाती है। राम सिंह ने कहा कि बैंक ने सी के हिसाब से पेंशन तैयार की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 4, 2016 8:45 am

  1. A
    ashish
    Nov 4, 2016 at 4:57 am
    पेंशन के अगेंस्ट लोन लेना किस अपराध की श्रेणी में आता है?मिडिया भी थोडा संयम बरते तो स्थिति को खराब होने से बचाया जा सकता है |
    Reply
    1. A
      Abhay Dolhare
      Nov 4, 2016 at 12:01 pm
      राम किशन ग्रेवाल की आत्मा को शांती मिले!लेकिन एक वात तय नहीं है, की यह आत्महत्या या हत्या!क्यो जिस व्यक्ती को प्रतिमाह २२०००/- रुपये पेंन्शन मिलती हो वह आत्महत्या क्यों करे?रही बात आरोप की, यह तो काँग्रेस के जमाने से लटका हुआ मुद्दा था, जिसे मोदी ने सुलझाने के लिये कदम उठाया!
      Reply
      1. D
        Dr S
        Nov 6, 2016 at 11:55 am
        यह केस orop का नहीं लगता. यह उसको उकसा कर सुसाइड करवाकर पोलिटिकल मर्डर है २६८०० की पेंशन लेने वाला और भी कामो को करते हुए आत्महत्या नहीं कर सकता. पेंशन अकाउंट पर उसने कर्ज़ क्यों लिया और उसको इतना पैसा लोन क्यों दिया गया. जो आदमी उसके उकसाने के पीछे हैं उनको ढूंढ कर पब्लिक के सामने लाना ही होगा. यह केजरी राहुल ग्रुप के इलावा और किस का काम हो सकता है. घटना इसी और इंगित करती hai
        Reply
        1. S
          SANJAY CHOUREY
          Nov 6, 2016 at 9:19 am
          पेंशन के अगेंस्ट लोन लेना अपराध नही है ? किन्तु 18000 कि तनख्वाह वाला 22000 कि पेंशन के बाद आत्महत्या करेगा ? ये बात भी तो गले नही उतरती ? इनके आत्महत्या करने के कारणों कि जाँच चल रही है उसमे से ही ये तथ्य बाहर आ रहे है कि इसकी वजह पेंशन आंदोलन नहीं बल्कि सरपंच रहते हुए किये गए घोटाले या लिया गया कर्ज भी हो सकते है ?
          Reply
          1. S
            sanjay
            Nov 4, 2016 at 8:08 am
            २२६०८/- रूपये की पेंशन कम नहीं है!कोई भी सरकार हो वह अपनी जनता को सुखी देखना चाहती है और अधिक से अधिक सुविधा विकास देना चाहती है,लेकिन उनकी भी कुछ फण्ड की समस्या हो सकती है,उसे हम लोगो को समझना होगा! एक घर को हम ठीक से मैनेज या बजट के अनुससार नहीं चला पाते है जबकि सरकार को पुरे देश को चलाना पड़ता है,तो उसमे कुछ कमिया रह जाती है और रक्षा मंत्री कह भी रहे है की कुछ कमिया है जिसे दूर किया जा रहा है!तो हमें शालीनता संयम का परिचय देना होगा!
            Reply
            1. Load More Comments

            सबरंग