ताज़ा खबर
 

मोदी के जन्म संबंधी टिप्पणी पर विवाद, सोशल मीडिया पर चला #ModiInsultsIndia

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विदेश यात्रा के दौरान भारत में जन्म संबंधी टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया हुई है। विपक्षी दलों के साथ ही सोशल मीडिया पर भी उनकी इस टिप्पणी को लेकर हंगामा मचा हुआ है...
Author May 20, 2015 01:31 am
कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव ने कहा, ‘‘बहुत से लोग प्रधानमंत्री को एक अच्छा वक्ता मानते हैं लेकिन धीरे धीरे उनकी बातों का स्तर गिरता जा रहा है।’’ Photo PTI

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विदेश यात्रा के दौरान भारत में जन्म संबंधी टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया हुई है। विपक्षी दलों के साथ ही सोशल मीडिया पर भी उनकी इस टिप्पणी को लेकर हंगामा मचा हुआ है।

मोदी ने अपनी हालिया विदेश यात्रा के दौरान कहा था कि पहले लोग यह सोचते थे कि ऐसे कौन से पाप किए जो भारत में पैदा हुए लेकिन लोगों की यह अवधारणा बदल गयी है।

कांग्रेस ने कहा कि मोदी की ऐसी टिप्पणी ‘‘बेहद पीड़ादायक’’ है। कांग्रेस ने इसे जहां शर्मनाक बताया वहीं जनता दल यू ने कहा कि इससे प्रधानमंत्री का कद ‘‘छोटा’’ हुआ है और उनके पद की गरिमा भी घट गयी है।

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कटाक्ष करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि ऐसा कोई भारतीय नहीं है जिसे 16 मई 2014 को संप्रग सरकार को हराकर भाजपा के सत्ता में आने से पहले अपने भारतीय होने का गर्व रहा हो।

सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर भी मोदी की टिप्पणी की तीखी आलोचना हो रही है। कुछ ने अपने ही देश का अपमान करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना की है। इसे लेकर ट्विटर पर हैशटैग ‘मोदीइनसल्टइंडिया’ भी शुरू किया गया है।


पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने पार्टी की ब्रीफिंग में इस पर हैरानी और निराशा जाहिर करते हुए कहा, ‘‘हमें वास्तव में ऐसी टिप्पणियों को लेकर पीड़ा हुई है क्योंकि स्वतंत्र भारत में किसी नेता ने पहले ऐसा बयान नहीं दिया।’’

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल ने ट्विटर पर कहा,‘‘उच्च पदों पर बैठे लोग जब विदेश जाते हैं तो कैसे देश के बजाय खुद की पीठ थपथपाने लगते हैं।’’

कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव ने कहा, ‘‘बहुत से लोग प्रधानमंत्री को एक अच्छा वक्ता मानते हैं लेकिन धीरे धीरे उनकी बातों का स्तर गिरता जा रहा है।’’उधर भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि वह ‘‘आत्म अपराध’’ से पीड़ित है।

मोदी ने सोल में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा था, ‘‘एक समय ऐसा था जब लोग यह महसूस करते थे कि उन्होंने पिछले जन्म में ऐसे क्या पाप किए थे जो भारत में जन्म हुआ, क्या इसे आप देश और सरकार कहते हैं, क्या ऐसे लोग होते हैं, चलो इसे छोड़ो और कहीं और चलो और लोग चले गए।’’

मोदी ने आगे कहा था, ‘‘अब मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि सभी क्षेत्रों के प्रखर लोग, विख्यात वैज्ञानिक भी, भले ही वे विदेशों में अच्छा कमा रहे हों, लेकिन अब वे कम आय के साथ भी भारत वापस लौटने, वहां बसने को उत्सुक हैं।’’

प्रधानमंत्री ने शंघाई में कहा था, ‘‘भारतीय हाल तक खुद अपने देश के बारे में निराशाजनक महसूस करते थे लेकिन मेरी सरकार ने पहले ही साल में बेहतर काम किया और इसे बदल दिया।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग