December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

सोनिया की गैरमौजूदगी में राहुल गांधी ने की कांग्रेस संसदीय दल बैठक की अध्‍यक्षता, 105 में से 79 सांसद नहीं आए

संबोधन के दौरान राहुल ने अपनी मां सोनिया को उनका भविष्‍य बनाने में मार्गदर्शन देने के लिए धन्‍यवाद दिया।

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी साथी सांसद के साथ संसद में परिसर में। (Photo:PTI)

राहुल गांधी ने शुक्रवार (दो दिसंबर) को पहली बार कांग्रेस संसदीय दल की बैठक की अध्‍यक्षता की। बीमारी के चलते सोनिया गांधी की गैरमौजूदगी में राहुल ने यह जिम्‍मेदारी निभाई। संबोधन के दौरान राहुल ने अपनी मां सोनिया को उनका भविष्‍य बनाने में मार्गदर्शन देने के लिए धन्‍यवाद दिया। इस बैठक में 26 सांसदों ने हिस्‍सा लिया और 79 सांसद नहीं आए। कांग्रेस के राज्‍य सभा और लोक सभा दोनों सदनों में कुल 105 सांसद हैं। पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदम्‍बरम ने कांग्रेस संसदीय दल को नोटबंदी के मुद्दे पर संबोधित किया और बताया कि क्‍यों कांग्रेस को संसद में गरीबों की लड़ाई लड़नी चाहिए। राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कहा कि उनकी टीआरपी की राजनीति में रूचि है। उन्‍होंने कहा, ”जो लोग हमारी पाकिस्‍तान नीति का मजाक बनाते थे वो आज कश्‍मीर के जलने पर चुपचाप बैठे हैं। इतिहास पीएम मोदी को मौकापरस्त बीजेपी-पीडीपी गठबंधन बनाकर देशविरोधी ताकतों को राजनीतिक जगह देने वाले व्यक्ति के तौर पर याद करेगा।”

बैठक में राहुल ने पाकिस्तान कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में की गई सर्जिकल स्ट्राइक की सफलता पर भी सवाल खड़े किए। उन्‍होंने कहा, “हमसे कहा गया था कि सर्जिकल स्ट्राइक पाकिस्तान की तरफ से होने वाले सीमापार हमले रोकने के लिए की गई थी। लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक के बाद कश्मीर में 21 बड़े हमले हो चुके हैं और सैकड़ों बार सीजफायर का उल्लंघन हो चुका है।” कांग्रेस संसदीय दल की बैठक से पहले उन्‍होंने कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की बैठक में भी उन्‍होंने अध्‍यक्षता की थी। सात नवंबर को हुई इस बैठक में कार्यकारिणी समिति की इस बैठक में मनमोहन सिंह, एके एंटनी, अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, मलिकार्जुन खड़गे, अंबिका सोनी, बीके हरिप्रसाद और गुलाम नबी आजाद समेत लगभग 21 सदस्यों ने हिस्सा लिया था।

कांग्रेस कार्यकारिणी समिति के बाद संसदीय दल की बैठक की अध्‍यक्षता को राहुल की ताजपोशी से पहले की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। राहुल को जनवरी 2013 में जयपुर के ‘चिंतन शिविर’ में उपाध्यक्ष चुना गया था। इसके बाद से कई बार उन्‍हें अध्‍यक्ष बनाए जाने की मांग हो चुकी है। कांग्रेस ने लोकसभा 2014 का चुनाव भी उन्‍हीं के नेतृत्‍व में लड़ा था। माना जा रहा है कि सोनिया गांधी की बीमारी के चलते राहुल को अगले साल तक कांग्रेस की जिम्‍मेदारी मिल जाएगी।

राहुल गांधी पहली बार बने कांग्रेस के संसदीय दल की बैठक के अध्यक्ष, देखें वीडियो: 

राहुल गांधी ने संसद से पीएम मोदी की गैरमौजूदगी पर उठाए सवाल:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 4:43 pm

सबरंग