December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

जन धन खातों से अब एक महीने में निकाले जा सकेंगे केवल 10 हजार रुपये

आरबीआई के निर्देशानुसार जिन जन धन खातों के केवाईसी दस्तावेज नहीं जमा हैं उनसे एक महीने में केवल पांच हजार रुपये निकाले जा सकेंगे।

प्रतीकात्मक तस्वीर

नोटबंदी की घोषणा के बाद जन धन खातों में जमा धनराशि में आए उछाल के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जन धन खातों से एक महीने में 10 हजार रुपये से ज्यादा निकालने पर रोक लगा दी है। भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि जिन खातों के केवाईसी ( नो योर कस्टमर) दस्तावेज जमा हैं उनसे एक महीने में 10 हजार रुपये तक निकाले जा सकेंगे। आरबीआई ने कहा है कि संबंधिक बैंक के मैनेजर 10 हजार रुपये की सीमा के बाद भी किसी खाता धारक को वाजिब जरूरत होने पर 10 हजार रुपये अतिरिक्त राशि जन धन खातों से दे सकेंगे। केवाईसी के तहत बैंक खाताधारकों को अपना पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र और अद्यतन फोटो बैंक में जमा करनी होती है। बैंक खातों की संवेदनशीलता के अनुसार बैंक हर दो, आठ या 10 साल में खाताधारकों से ताजा केवाईसी दस्तावेज जमा करवाता है।

आरबीआई के निर्देशानुसार जिन खातों के केवाईसी दस्तावेज नहीं जमा हैं उनके खाताधारक नौ नवंबर के बाद 500 और 1000 के बंद किए जा चुके नोटों में जमा राशि में से एक महीने में केवल पांच हजार रुपये निकाल सकेंगे। ऐसे खाताधारक अधिकतम 10 हजार रुपये ही बैंक से निकाल सकेंगे। आरबीआई ने कहा है कि वो ये कदम प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत बैंक खाता खुलवाने वाले मासूम किसानों और ग्रामीण खाताधारकों को कालाधन रखने वालों के चंगुल में फंसने से बचाने के लिए उठा रहा है।

आठ नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद जन धन बैंक खातों में अब तक 64,252.15 रुपए जमा कराए गए हैं। इस लिस्ट में यूपी सबसे ऊपर है। यूपी में अब तक 10,670.62 करोड़ रुपए जन धन खातों में जमा कराए गए हैं। इसके बाद दूसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल और तीसरे नंबर पर राजस्थान है। राज्य वित्त मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने 25 नवंबर को लोकसभा में लिखित में जवाब देते हुए बताया, “प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए 25.58 करोड़ बैंक खातों में 16 नवंबर तक 64,252.15 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगस्त 2014 में जन धन योजना शुरू की थी। तब से नौ नवंबर 2016 तक देश भर के जन धन खातों में 45,636.61 करोड़ रुपये जमा थे। नोटबंदी की घोषणा के बाद 14 दिनों में प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खुले बैंक खातों में जमा की जाने वाली राशि में 33 गुना की बढ़ोतरी हुई है। 31 मार्च 2016 से नौ नवंबर 2016 के बीच जन धन खातों में औसत साप्ताहिक जमाराशि 311 करोड़ थी। लेकिन नोटबंदी के बाद के दो हफ्तों में ये राशि बढ़कर 10,500 करोड़ रुपये हो गई है। इस तरह आम तौर पर जितनी राशि जन धन खातों में एक साल में जमा होती करीब उतनी ही राशि पिछले 14 दिनों में जमा की गई है।

वीडियोः प्रधानमंत्री मोदी का निर्देश- सभी बीजेपी सांसद, विधायक अमित शाह को भेजें बैंक खातों का ब्‍योरा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 10:10 am

सबरंग