ताज़ा खबर
 

ओडिशा : 6 घंटे की मासूम को खेत में उल्‍टा गाड़ गया कोई, गांववालों ने बचाई जान

जाजपुर पुलिस अधीक्षक अनूप कुमार साहू ने बताया कि बच्ची के जैविक पिता माने जा रहे रमेश चंद्र बसंतिया (35) ने नवजात बच्ची को 25 मार्च को उसके जन्म के दो घंटे बाद दफन कर दिया था।
Author March 29, 2017 18:03 pm
ग्रामीणों ने मिट्टी हटा कर बच्ची को निकाल लिया और पाया कि उसकी सांस चल रही थी। (Image Source : Youtube)

ओडिशा में जाजपुर जिले के एक गांव से पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जिसने यह कुबूल किया कि बीते शनिवार को उसने अपने घर के पास खेत में एक नवजात बच्ची को जिंदा दफन किया है। हालांकि, बच्ची को ग्रामीणों ने निकाल लिया और उसे एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है। जाजपुर पुलिस अधीक्षक अनूप कुमार साहू ने बताया कि बच्ची के जैविक पिता माने जा रहे रमेश चंद्र बसंतिया (35) ने नवजात बच्ची को 25 मार्च को उसके जन्म के दो घंटे बाद दफन कर दिया था।

उन्होंने बताया कि वाहन चालक का काम करने वाले बसंतिया की चार संतानें पहले से हैं जिनमें दो लड़कियां हैं। साहू ने बताया कि आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस ने इस सिलसिले में एक मामला दर्ज किया है।

ग्रामीणों ने मिट्टी हटा कर बच्ची को निकाल लिया और पाया कि उसकी सांस चल रही थी। इसके बाद उसे धर्मशाला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां से उसे शनिवार शाम जिला मुख्यालय अस्पताल भेज दिया गया। बच्ची 4 से 6 घंटे पहले जन्मी थी। फिलहाल, बच्ची की हालत काफी नाजुक बनी हुई है।

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘बच्ची को एक कपड़े में लपेटकर उल्टा दफनाया गया था। जब बच्ची को निकाला गया तब बच्ची जिंदा थी। उसे तुरंत प्राथमिकी उपचार के लिए स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया गया है। अभी बच्ची का इलाज चल रहा है।

देखिए वीडियो - माता-पिता ने कोयले की रेक में नवजात बच्ची को छोड़ा; CISF कर्मियों ने बचाया

ये वीडियो भी देखिए - नवजात बच्चे के पारिवारिक सदस्यों अस्पताल में किया हंगामा; मृत बच्चे से बदले जाने का लगाया आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग