January 22, 2017

ताज़ा खबर

 

किसी को नहीं दी जा रही जयललिता से मिलने की इजाजत, राहुल गांधी को भी लौटाया गया बैरंग

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता 22 सितंबर से अस्पताल में भर्ती हैं। उनके सभी मंत्रालयों का कार्यभार पनीरसेल्वम को सौंप दिया गया है।

Author October 14, 2016 15:04 pm
68 वर्षीय जयललिता को 22 सितंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

बीते दिनों कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी बीमार चल रहीं तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जयललिता से मिलने गए थे। उनके बाद चेन्‍नई जाने के लिए कांग्रेस नेता कतार लगाए खड़े हैं। केरल के पूर्व मुख्‍समंत्री ओमान चांडी और नेता विपक्ष रमेश चेन्‍नीथला शुक्रवार को ‘अम्‍मा’ से मिलने चेन्‍नई के अपोला हॉस्पिटल जाएंगे और उनके शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की कामना करेंगे। ये अलग बात है कि जयललिता को देखने आने वाले किसी नेता को अब तक उनसे मिलने की इजाजत नहीं दी गई है। यहां तक कि राहुल गांधी को भी नहीं। केरल के मुख्‍यमंत्री पिनराई विजयन इस सप्‍ताह हॉस्पिटल आए थे, ऐसे में चांडी औश्र चेन्‍नीथला कैसे पीछे रहते, वह भी तब जब राहुल ने एआईएडीएमके सुप्रीमो द्वार उनकी मां को लेकर की गई टिप्‍पणी को नजरअंदाज कर दिया हो। 68 वर्षीय जयललिता को 22 सितंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने बुखार और निर्जलीकरण की शिकायत की थी। अस्पताल ने गुरुवार को कहा था कि उनकी हालत में लगातार सुधार हो रहा है लेकिन उन्हें अस्पताल में लंबे समय तक रखना होगा। अपोलो अस्पताल ने बताया कि उनकी फेफड़ों की जकड़न को कम करने समेत अन्य उपचार किए जा रहे हैं और वह सतत निगरानी में हैं।

भुखमरी के इंडेक्‍स में 97वें स्‍थान पर पहुंचा भारत, देखें वीडियो: 

जयललिता के लिए पूरे तमिलनाडु के लोग प्रार्थना कर रहे हैं। इसके अलावा कई बड़े नेता भी उन्हें देखने के लिए हॉस्पिटल पहुंचे थे। जम्मू कश्मीर के मंत्री, केरल के राज्यपाल के अलावा कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी जयललिता को देखने के लिए हॉस्पिटल पहुंचे थे। कुछ लोगों ने तो जयललिता के लिए प्रार्थना करने के दौरान अपनी जान तक की बाजी लगा दी थी। इस बीच जयललिता की कुछ फर्जी फोटोज और झूठी खबरें भी सामने आई थीं। जिनका राज्य सरकार को खंडन करना पड़ा था। जयललिता के 22 सितंबर से अस्पताल में भर्ती होने के कारण तमिलनाडु के राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने मंगलवार (11 अक्टूबर) को वे सारे विभाग वित्त मंत्री ओ पनीरसेल्वम को सौंप दिये जो जयललिता के पास थे लेकिन साथ ही कहा कि अन्नाद्रमुक प्रमुख ही मुख्यमंत्री रहेंगी।

Read Also: जयललिता से मिलने अपोलो हॉस्पिटल पहुंचे अमित शाह और अरुण जेटली

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 2:35 pm

सबरंग