ताज़ा खबर
 

‘कोई भी आदिवासियों की भूमि पर जबरन कब्जा नहीं कर सकता’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि केवल आदिवासियों का कल्याण ही देश को मजबूत बना सकता है। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि कोई भी आदिवासियों की भूमि पर जबरन कब्जा नहीं कर सकता और उनकी सरकार आदिवासी कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। मोदी ने यहां एक चुनावी सभा में कहा,‘‘कोई भी आदिवासियों से […]
Author December 15, 2014 19:02 pm
आप पर वार करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद सामने आए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि केवल आदिवासियों का कल्याण ही देश को मजबूत बना सकता है। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि कोई भी आदिवासियों की भूमि पर जबरन कब्जा नहीं कर सकता और उनकी सरकार आदिवासी कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

मोदी ने यहां एक चुनावी सभा में कहा,‘‘कोई भी आदिवासियों से उनकी जमीन छीन नहीं सकता, सिर्फ आदिवासियों का कल्याण करके ही हम देश को मजबूत बना सकते हैं।’’
कुछ दलों द्वारा लगाए जा रहे उन आरोपों का एक तरह से जवाब देते हुए कि भाजपा छोटा नागपुर टिनेंसी और संथाल परगना टिनेंसी कानूनों में बदलाव ला सकती है, मोदी ने कहा कि विपक्षी दल गलतबयानी कर रहे हैं और अफवाहें फैला रहे हैं। गौरतलब है कि ये ही कानून आदिवासियों की भूमि का संरक्षण करते हैं।

मोदी ने कहा,‘‘वह अटल बिहारी वाजपेयी की ही सरकार थी जिसने आदिवासी कल्याण मंत्रालय गठित किया था जिसका एक पृथक मंत्री होता है और पृथक बजट भी होता है।’’ उन्होंने इसके साथ ही इस बात की ओर इशारा भी किया कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे आदिवासी बहुल राज्यों ने भाजपा की सरकार का गठन कर पार्टी में विश्वास जताया।

आगामी 20 दिसंबर को संथाल परगना क्षेत्र की 16 सीटों के लिए पांचवें और अंतिम चरण में होने वाले चुनाव के पहले मोदी यहां चुनावी सभा कर रहे थे।
उन्होंने झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस जैसे दलों या उनके नेताओं शिबु सोरेन या मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का नाम लिए बिना उनपर हमला बोलते हुए कहा कि न तो ‘‘हाथ’’ को और न ही ‘‘तीर ’’ को जनता के ‘‘खजाने ’’ को छूने या (उसपर) हाथ रखने दिया जाएगा।

मोदी ने लोगों से कहा,‘‘लुटेरों को बाहर फेंक दें और भाजपा को दो तिहाई बहुमत देकर झारखंड में एक स्थिर सरकार बनाइए। झारखंड के लोगों ने चुनाव के पिछले चार चरणों में जबरदस्त मतदान किया है और आगे भी ऐसा ही जारी रहेगा।’’

उन्होंने कहा कि राज्य के पास इतना अधिक कोयला है जिससे पूरा देश रोशन हो सकता है, लेकिन, वह (राज्य) खुद अंधेरे में है।’’

संथाल परगना इस समय पलायन की समस्या का सामना कर रहा है, इस पृष्ठभूमि में मोदी ने कहा कि वे स्थानीय तौर पर रोजगार के अवसर पैदा करना चाहते हैं ताकि पलायन को रोका जा सके और युवक युवतियां अपने परिवार के साथ ही रह सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग