ताज़ा खबर
 

बिहार: घूस लेते Video में क़ैद हुए नीतीश के मंत्री

मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा को एक स्टिंग ऑपरेशन में मुंबई के एक व्यवसायी से चार लाख रुपए रिश्वत लेते हुए सोशल मीडिया पर दिखाए जाने पर उनसे मंत्री पद से इस्तीफा ले लिया गया..
Author पटना | October 12, 2015 11:46 am
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

बिहार के नगर विकास और निबंधन एवं मद्य निषेध मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा को एक स्टिंग ऑपरेशन में मुंबई के एक व्यवसायी से चार लाख रुपए रिश्वत लेते हुए सोशल मीडिया पर दिखाए जाने पर उनसे मंत्री पद से इस्तीफा ले लिया गया।

जद (एकी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ रविवार यहां देर शाम पत्रकारों को बताया कि स्टिंग ऑपरेशन को समाचार चैनलों दिखाए जाने के तुरंत बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अवधेश प्रसाद कुशवाहा से बातचीत की और उनकी भी बात कराई। इसके बाद कुशवाहा से मंत्री पद से इस्तीफा ले लिया गया। इस्तीफे को स्वीकार किए जाने के मकसद राजभवन भेज दिया गया है।

उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी ने इस स्टिंग ऑपरेशन को सही माना है और पूर्वी चंपारण जिले के पिपरा विधानसभा क्षेत्र, जहां से पार्टी ने कुशवाहा को अपना उम्मीदवार बनाया था, से अब उनकी जगह किसी दूसरे को नामांकन की अंतिम तिथि आगामी 14 अक्तूबर के पूर्व उतारा जाएगा। नया उम्मीदवार घोषित किए जाने के लिए जद (एकी) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह से पार्टी के भीतर विचार-विमर्श करने के लिए आग्रह किया गया है।

यह पूछे जाने पर कि जब उनकी पार्टी ने उक्त स्टिंग ऑपरेशन को सही मान लिया है तो ऐसे में कुशवाहा को पार्टी से भी निष्कासित क्यों नहीं किया गया, शरद यादव ने कहा कि इंतजार कीजिए इस दिशा में पार्टी जल्द ही फैसला करेगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में समाजवादी विचारधारा की परंपरा रही है जो जयप्रकाश नारायण, राममनोहर लोहिया और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्शों पर चलती रही है।

इस मौके पर जद (एकी) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भ्रष्टाचार के मामले में हर्गिज बर्दाश्त नहीं करने की नीति रही है। ऐसे में सार्वजनिक और राजनीतिक जीवन में नैतिक मूल्यों का पालन हो, इसको ध्यान में रखकर कुशवाहा जी से तत्काल मंत्री पद से इस्तीफा ले लिया गया।

सोशल मीडिया पर जारी उक्त वीडियो में कुशवाहा को मुंबई के एक व्यवसायी से चार लाख रुपए रिश्वत के तौर पर लेते हुए दिखाया गया है। इस वीडियो में कुशवाहा को यह कहते हुए दिखाया गया है कि चुनाव में करोड़ों रुपए खर्च होते हैं और उसके बाद उक्त व्यवसायी ने उन्हें चार लाख रुपए दिए। कुशवाहा को इसे लेते हुए व्यवसायी को यह आश्वासन देते हुए दिखाया गया उनकी सरकार के सत्ता में आने पर उनका काम हो जाएगा।

कुशवाहा ने फोन पर पीटीआइ को बताया कि इस स्टिंग ऑपरेशन को उनकी छवि धूमिल करने की विपक्ष की एक गहरी साजिश है और वे इसका वे राजनीतिक लाभ नहीं उठा सकेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग