ताज़ा खबर
 

जजों से दोस्‍ती के बूते ट्रांसफर रुकवा लेते हैं डॉक्‍टर्स, न्‍यायपालिका को अपनी हद में रहना चाहिए: गडकरी

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि कुछ डॉक्‍टर निचली और ऊपरी अदालतों के जजों से अच्‍छे संबंधों के चलते अपने ट्रांसफर रूकवा लेते हैं।
Author नागपुर | April 18, 2016 10:56 am
केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी। (FILE PHOTO)

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि कुछ डॉक्‍टर निचली और ऊपरी अदालतों के जजों से अच्‍छे संबंधों के चलते अपने ट्रांसफर रूकवा लेते हैं। महाराष्‍ट्र मेडिकल काउंसिल की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए गडकरी ने मेडिकल कॉलेजों के कामकाज को रोकने के लिए न्‍यायपालिका को दोष दिया। उन्‍होंने कहा कि कुछ डॉक्‍टर्स के जिला और हाईकोर्ट में दोस्‍त हैं। इनसे वे अपने ट्रांसफर रूकवा लेते हैं। वहीं कोर्ट मेडिकल कॉलेजों के कामकाज में कमियां निकालते हैं। साथ ही सरकार के कामकाज की भी निंदा करते हैं। यह सही बात नहीं है।

उन्‍होंने आगे कहा,’सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट मेडिकल कॉलेज नहीं चला सकते। न्‍यायपालिका और सरकारी प्रशासन को अपनी सीमाओं में काम करना चाहिए।’ उन्‍होंने इंडियन मेडिकल काउंसिल को भी निशाने पर लेते हुए कहा,’ यह देखा जा रहा है कि एमसीआई मेडिकल कॉलेजों के कामकाज में गलतियां निकालती है। इससे उनका विकास रूकता है। भारत में सरकारी डॉक्‍टर्स की कमी है। एमसीआई को इन कॉलेजों को अपनी समस्‍याएं दूर करने के लिए समय देना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग