ताज़ा खबर
 

अखिलेश राज में ज्यादा फंड मिलने पर मुलायम की बहू अपर्णा की सफाई- अच्छा काम करने पर मिला पैसा, इसमें गलत क्या है?

Aparna Yadav NGO funding row: आरटीआई के जवाब में आयोग के सूचना अधिकारी संजय यादव ने कहा, "आवेदनकर्ता की ओर से वित्तीय वर्ष 2012-13, 2013-14 तथा 2014-15 में कितना अनुदान दिया गया था।
Author नई दिल्ली। | July 3, 2017 21:13 pm
अपर्णा यादव। (फाइल)

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के एनजीओ को पिछली सपा सरकार में हुई फंडिंग का मामला सामने आया है। गौसेवा आयोग की ओर से किए गए अनुदान का 86 प्रतिशत अपर्णा के एनजीओ को दिया गया है। इसके बाद एक राजनीतिक हलकों में चर्चाएं तेज हो गई हैं। इस मामले में सफाई देते हुए अपर्णा यादव ने कहा, ” आयोग द्वारा अनुदान देने में गलत क्या है? अगर कुछ संगठन पशुओं के कल्याण के लिए अच्छा काम कर रहे तो उन्हें वित्तीय मदद क्यों नहीं की जानिए चाहिए? यह बात उन्होंने एएनआई से बातचीत में कही।

समाजवादी पार्टी के कार्यकाल (2012-2017) के दौरान गौशालाओं को दिए जाने वाले सरकारी आवंटन का 86 फीसद, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की भाभी और मुलायम सिंह यादव के दूसरे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव के एनजीओ को मिले थे। इस बात का खुलासा एक आरटीआई के जरिए हुआ। राज्य में अखिलेश यादव के कार्यकाल के दौरान, गौसेवा आयोग से मिलने वाले गौशाला फंड्स का बड़ा हिस्सा अपर्णा याजव के एनजीओ जीव आश्रय को गया है। सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में यूपी गौ सेवा आयोग ने अपने जवाब में कहा कि सपा सरकार के 5 सालों के कार्यकाल में कुल 9.66 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की गई थी, जिसमें से 8 करोड़ 35 लाख रुपए अपर्णा के जीव आयोग एनजीओ को दिया गया है।

आरटीआई के जवाब में आयोग के सूचना अधिकारी संजय यादव ने कहा, “आवेदनकर्ता की ओर से वित्तीय वर्ष 2012-13, 2013-14 तथा 2014-15 में कितना अनुदान दिया गया था। जानकारी से पता चला कि अपर्णा के एनजीओ 2012-13 में 49.89 लाख रुपए, 2013-14 में 1.25 करोड़ रुपए, 2014-15 में 1.41 करोड़ रुपए, 2015-16 में 2.58 करोड़ और 2016-17 में 2.55 करोड़ रुपए का अनुदान दिया गया था। अखिलेश यादव के छोटे भाई प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव ने 2017 का विधानसभा चुनाव लखनऊ से लड़ा था। हालांकि उन्हें बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी के आगे हार का मुंह देखना पड़ा था। बता दें कि नूतन ठाकुर आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर की पत्नी हैं। अभिताभ ठाकुर मुलायम सिंह के बीच हुआ टेप विवाद ्पिछले दिनों खासा चर्चा में रहा था।

अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट में भारी गड़बड़ी, सीएम योगी कराएंगे CBI जांच

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.