ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर आरोप- आयकर संशोधन बिल पेटीएम यानी ‘पे टू मोदी’ स्कीम

उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि आयकर कानून में संशोधन कर सरकार कालाधन जमा करने वालों की सहायता कर रही है।
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को केंद्र की मोदी सरकार के नोटबंदी और नए आयकर संशोधन बिल को लेकर निशाना साधा। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि आयकर कानून में संशोधन कर सरकार कालाधन जमा करने वालों की सहायता कर रही है। उन्होंने कहा कि इस बिल के आ जाने से अब आधा अघोषित धन उन्हें लौटा दिया जाएगा। संसद के बाहर उन्होंने कहा कि कालाधन रखने वालों का आधा पैसा सरकार उन्हें वापस देना चाहती है। गौरतलब है कि लोकसभा में सोमवार को आयकर कानून (दूसरा संशोधन) विधेयक पेश किया गया था, वहीं मंगलवार को इसे लोकसभा में पास कर दिया गया।

क्या है आयकर संशोधन विधेयक:

नए संशोधन विधेयक के तहत नोटबंदी के बाद घोषित की गई आय से अधिक संपत्ति पर 30 प्रतिशत टैक्स, 10 प्रतिशत जुर्माना और 33 प्रतिशत सरचार्ज लगाने का प्रस्ताव दिया गया है। प्रस्ताव के अनुसार नोटबंदी के बाद सामने आई 25 प्रतिशत अघोषित आय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण जमा योजना में जाएगी। वहीं जो लोग नोटबंदी के बाद भी आय से अधिक संपत्ति की घोषणा नहीं करेंगे उन पर 75 प्रतिशत टैक्स और 10 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाएगा।

नया बिल पेटीएम यानी ‘पे टू मोदी’ स्कीम:

इसके साथ ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक टीवी चैनल से बातचीत करते हुए ये भी कहा कि आयकर संशोधन बिल पेटीएम स्कीम यानी ‘पे टू मोदी’ स्कीम है। उनके इस वाक्य को कांग्रेस पार्टी ने ऑफिशियल अकाउंट पर ट्वीट भी किया।

लोकसभा में विपक्ष के सांसदों को वॉकआउट के बारे में राहुल ने कहा, “संसद में परम्परा है कि जब भी किसी का निधन होता है तो हम सम्मान देते हैं। पहली बार शहीद होने वाले सैनिकों (नगरोटा हमले के) को श्रद्धांजलि नहीं दी गई। इसलिए विपक्ष ने बहिर्गमन किया।” जम्मू में सेना के शिविर पर आतंकवादी हमले में शहीद होने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि देने की विपक्ष की मांग को लोकसभा अध्यक्ष द्वारा खारिज करने के बाद विपक्षी सदस्य संसद से बाहर चले गए। अध्यक्ष ने इस आधार पर श्रद्धांजलि देने से इंकार किया कि अभी पूरा ब्यौरा सामने नहीं आया है।

RBI का नया नियम, जनधन खातों से महीने भर में अब सिर्फ निकलेंगे 10 हज़ार रुपए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.