ताज़ा खबर
 

इस्‍लामिक उपदेशक जाकिर नाईक के खिलाफ NIA ने जारी किया गैर-जमानती वारंट

गत सप्ताह शहर की एक अन्य अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय की ओर से नाइक के खिलाफ दर्ज धनशोधन के एक मामले में उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था।
Author April 20, 2017 20:10 pm
जाकिर नाईक ( File Photo)

मुम्बई की एक विशेष एनआईए अदालत ने विवादास्पद इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के खिलाफ गुरूवार (20 अप्रैल) को एक गैर जमानती वारंट जारी किया जो कि एक आतंकवादी मामले में कथित भूमिका के लिए एनआईए द्वारा वांछित है। एनआईए ने नाइक के खिलाफ गत वर्ष गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून के तहत एक मामला दर्ज किया था।

एनआईए ने अदालत को बताया कि तीन सम्मन जारी होने के बावजूद नाइक उसके समक्ष पेश नहीं हुआ और उसे वापस भारत लाने के लिए उसे इंटरपोल की मदद की जरूरत होगी। विशेष न्यायाधीश वी.वी पाटिल ने कहा, ‘‘नाइक के खिलाफ गैर जमानती वारंटी जारी किया जाए।’’

गत सप्ताह शहर की एक अन्य अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय की ओर से नाइक के खिलाफ दर्ज धनशोधन के एक मामले में उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने कहा था कि माना जाता है कि नाइक संयुक्त अरब अमीरात में है।

51 वर्षीय नाइक गत वर्ष तब गिरफ्तारी से बचने के लिए भारत छोड़कर चला गया था जब ढाका आतंकवादी हमले के कुछ हमलावरों ने दावा किया था कि वे नाइक से प्रेरित थे।

ढाका हमले के बाद एनआईए ने नाइक और उसके संगठन इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के कुछ पदाधिकारियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153 (ए) और यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया था।

गौरतलब है कि डॉ. जाकिर नाईक अपने बयानों से काफी विवादों में रहा है। बांग्‍लादेश में एक रेस्‍तरां पर हुए आतंकी हमले को अंजाम देने वाला एक आतंकी डॉ. नाइक से प्रभावित था। कई बार आतंकी कबूल चुके हैं कि वो नाइक के भाषणों से प्रभावित थे। कोलकाता की टीपू सुल्‍तान मस्जिद के शाही इमाम सैयद मोहम्‍मद नुरुर रहमान बरकती ने ढाका, बगदाद और मदीना में हुए आतंकी हमलों की निंदा करते हुए इस्‍लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के चैनल पर बैन लगाने की मांग की थी। बरकती बंगाल के बड़े मुस्लिम नेताओं में से एक हैं।

देखिए वीडियो - ज़ाकिर नाईक के NGO पर सरकार ने लगाया 5 साल का बैन; आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग