ताज़ा खबर
 

सभी में कांग्रेस का डीएनए, मोदी अपने पतन की पटकथा लिख रहे हैं: राहुल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री अपने ‘‘पतन’’ की पटकथा स्वयं ही लिख रहे हैं क्योंकि वह..
Author मथुरा | September 21, 2015 18:37 pm
राहुल गांधी ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी को जितना हम सब मिलकर नुकसान पहुंचा सकते हैं उससे कहीं अधिक नुकसान वह स्वयं अपने को पहुंचा रहे हैं। (पीटीआई फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने आज दावा किया कि प्रधानमंत्री अपने ‘‘पतन’’ की पटकथा स्वयं ही लिख रहे हैं क्योंकि वह लोगों से किया वादा पूरा करने में ‘‘असफल’’ रहे हैं।

महत्वूपर्ण राज्य उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की चिंतन बैठक में राहुल ने एप्पल कंपनी में फिर से जान फूंकने वाले स्टीव जॉब्स का उदाहरण दिया और कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को एक टीम की तरह एकजुट होकर कार्य करना चाहिए ताकि वे उस खाली जगह को भर सकें जो मोदी के ‘‘हटने’’ से बनेगी जो ‘‘सबसे अधिक नुकसान स्वयं को ही पहुंचा रहे हैं।’’ कांग्रेस उत्तर प्रदेश में चौथे स्थान पर पहुंच गई है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि सभी में ‘‘कांग्रेस डीएनए’’ है और वैचारिक रूप से पार्टी अभी भी पहले स्थान पर है क्योंकि वह आरएसएस की तरह नहीं है ‘‘जिसमें सब कुछ का निर्णय शीर्ष से होता है।’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने चुनावी वादे पूरे नहीं किये और कांग्रेस ने उन्हें जितना नुकसान पहुंचाया है उससे कहीं अधिक ‘‘नुकसान वह स्वयं को पहुंचा रहे हैं।’’

राहुल ने कहा, ‘‘उन्होंने किसानों के लिए अच्छे दिनों का वादा किया था। अब किसान आत्महत्या कर रहे हैं। मैं देश में जहां भी जाता हूं, किसान मोदीजी को अपशब्द कह रहे हैं। वे आलोचना नहीं कर रहे हैं बल्कि अपशब्द कह रहे हैं। युवाओं को नौकरियां नहीं मिल रही हैं और तीन बार वादा करने के बावजूद अभी तक ओआरओपी नहीं दिया गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी को जितना हम सब मिलकर नुकसान पहुंचा सकते हैं उससे कहीं अधिक नुकसान वह स्वयं अपने को पहुंचा रहे हैं। हमें अपनी जगह बनानी होगी। मोदीजी का पतन होना ही है और जब वह जाएंगे हमें वह स्थान भरना है। आप मोदी पर हमले करना जारी रखिये लेकिन मोदी अपना उससे अधिक नुकसान स्वयं ही कर रहे हैं।’’

‘‘सूट बूट’’ टिप्पणी को लेकर अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने वाले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कल मोदी की ‘मेक इन इंडिया’ पहल पर यह कहते हुए हमला किया था कि वह वास्तव में ‘‘टेक इन इंडिया’’ है।

राहुल ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि सभी के खून में ‘‘कांग्रेस का डीएनए’’ है। उन्होंने कहा कि उन्हें लोगों को इस बात के लिए प्रेरित करने की जरूरत है कि वे मिलकर काम करें और संघर्ष करें। पार्टी को पुनर्जीवित करने के लिए उन्हें एकता का संदेश देना चाहिए जिसने प्रमुख हिंदी राज्य में अपना अधिकतर आधार खो दिया है।

राहुल ने कहा कि कांग्रेस आरएसएस से अलग है। उन्होंने कहा, ‘‘ये आरएसएस नहीं है। यदि यह आरएसएस होती, (मोहन) भागवत आते और आपसे कहते कि आसमान काला है और तब आप सभी सुर में सुर मिलाते हुए कहते कि आसमान काला है। कांग्रेस पार्टी में निर्णय शीर्ष से नहीं थोपे जाते।’’

उन्होंने कांग्रेस पार्टी को एक ‘‘परिवार’’ बताते हुए कहा कि अलग अलग राय वाले लोग विचारों पर चर्चा करते हैं और यहां साथ काम करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आइए नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच बातचीत का माहौल बनाएं।’’ उन्होंने कहा कि एकजुट होकर लड़ने का समय आ गया है।

राहुल यहां प्रतिनिधि सम्मेलन में कार्यकर्ताओं से चर्चा से पहले वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर भी गए। उन्होंने अपनी पार्टी की विचारधारा के बारे में बात करते हुए कहा कि समय आ गया है जब पार्टी के सिद्धांत को आगे बढ़ाने और उत्तर प्रदेश में उसका स्थान दिलाने का काम किया जाए। उन्होंने कहा, ‘‘हमें यह करना होगा, हमें मिलकर संघर्ष करना होगा।’’

उन्होंने स्टीव जॉब्स का उल्लेख किया जिन्होंने सही लोगों को सही जगह पर रखा ताकि उनसे सर्वश्रेष्ठ काम लिया जा सके। उन्होंने कहा, ‘‘प्रत्येक व्यक्ति में कुछ गुण होते हैं और आपको उनसे वह निकालना होगा।’’

कांग्रेस के लिए देश एक परिवार है। उन्होंने कहा कि ‘‘जब वह कश्मीर की यात्रा करते हैं तो उन्हें लगता है कि वह अपने घर में हैं और जब वह इलाहाबाद जाते हैं तब भी उन्हें लगता है कि वह अपने घर आ गए हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. उर्मिला.अशोक.शहा
    Sep 21, 2015 at 7:39 pm
    वन्दे मातरम- अपने पत्तन की कथा किसने लिखी ?यह तो पहले खोजो .मोदी की सूंघने से कुछ हासिल नहीं होगा जनता आप की हसी उड़ा रही है? नेता होना इतना आसान नहीं घराने के वारिस सभी नेता होते ही है ऐसा भी नहीं अपने लिए कुछ और कामधंदा चुने यही बेहतर होगा जा ग ते र हो
    (0)(0)
    Reply
    1. उर्मिला.अशोक.शहा
      Sep 21, 2015 at 7:34 pm
      वन्दे मातरम- भ्रष्टाचार का ? कोलगेट का? गुटबाजी का? किस डी एन ए की बात राहुल गांधी कर रहे है?
      (0)(0)
      Reply
      सबरंग