ताज़ा खबर
 

‘जंगलराज’ आया तो बिहार हो जाएगा बर्बाद: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार और लालू के ‘राजनीतिक रूप से अवसरवादी गठबंधन’ पर सीधा हमला बोलते हुए रविवार को कहा कि अगर जद एकी-राजद को सत्ता दी गई तो...
Author August 10, 2015 09:06 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गया में आयोजित परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए। (पीटीआई फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार और लालू के ‘राजनीतिक रूप से अवसरवादी गठबंधन’ पर सीधा हमला बोलते हुए रविवार को कहा कि अगर जद एकी-राजद को सत्ता दी गई तो बिहार में फिर से ‘जंगलराज’ की वापसी हो जाएगी।

मोदी ने कहा कि राज्य में भाजपा के नेतृत्व में राजग सरकार बनने पर पांच साल के भीतर राज्य से ‘बीमारू’ का ठप्पा हट जाएगा, हालांकि उन्होंने बहुप्रतीक्षित आर्थिक पैकेज संबंधी वादे के बारे में कुछ भी एलान नहीं किया। प्रधानमंत्री ने एक पखवाड़े के भीतर बिहार में अपनी दूसरी सभा को संबोधित करते हुए लोगों से अपील की कि वे ‘अहंकार में डूबी सरकार’ को हटाएं। बिहार विधानसभा चुनाव अक्तूबर-नवंबर में प्रस्तावित है।

उन्होंने अपने संबोधन में ‘जंगल राज’ शब्द का कई बार जिक्र किया और कहा कि बिहार की जनता ‘जंगलराज पार्ट 2’ को आने की अनुमति नहीं दे। गया में एक रैली में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आपने 25 साल तक राज्य पर शासन करने वालों के अहंकार, उत्पीड़न और धोखाधड़ी को झेला है। क्या आप पांच साल और इन्हीं लोगों को शासन करने का मौका देंगे? ’

उन्होंने कहा, ‘यह चुनाव उन लोगों के अहंकार, धोखाधड़ी और उत्पीड़न से मुक्ति का पर्व है जिन्होंने 25 साल तक शासन किया है। यह जंगाल राज से मुक्ति का पर्व है। यह बिहार में परिवर्तन लाने का पर्व है। यह बिहार के विकास और लोकतंत्र में विश्वास का पर्व है। आपने जंगलराज देखा है और अगर आपने जंगलराज पार्ट 2 की अनुमति दी तो राज्य और बर्बादी की ओर बढ़ चलेगा।’

उन्होंने कहा, ‘अगर जंगल राज दो आ गया तो सब बर्बाद हो जाएगा। जंगलराज एक के दौरान जेल का अनुभव नहीं था जो अब है। जेल में कोई भी अच्छी बात नहीं सीखता।’ मोदी का इशारा राजद प्रमुख लालू प्रसाद के चारा घोटाले में जेल जाने की ओर था।

नीतीश और लालू के गठबंधन को ‘राजनीतिक अवसरवादिता से बना’ गठबंधन करार देते हुए मोदी ने कहा, ‘जिन लोगों ने जहर पिया है क्या चुनाव के बाद उगल देंगे। यह कहां गिरेगा? जनता की प्लेट में। क्या आपको उन्हें यह करने की अनुमति देनी चाहिए।’

लालू प्रसाद के जदयू से गठबंधन के दौरान ‘जहर पीने’ के बयान और नीतीश कुमार के रहीम के दोहे ‘चंदन विष व्यापत नहीं’ संबंधी टिप्पणी का परोक्ष उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा, ‘भुजंग प्रसाद’ कौन है, ‘चंदन कुमार’ कौन है, मुझे पता नहीं चला। जहर कौन दे रहा है और इसे कौन पी रहा है, लेकिन जब चुनाव पूरा हो जाएगा तो वे मिल कर बिहार में जहरीला माहौल बना देंगे।’

उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने जहर पीने की बात कही, वे चुनाव के बाद जहर उगलेंगे, और यह जहर जनता को पीना पड़ेगा… क्या जनता उनको मौका देगी जिन्होंने जहर पिया या जहर पिलाया? रामविलास पासवान (लोजपा), उपेंद्र कुशवाहा (रालोसपा), जीतन राम मांझी (हम-सेकुलर) की मौजदूगी वाले मंच से मोदी ने भाजपा नीत राजग की एकजुटता वाली तस्वीर पेश की।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘अगर आप बिहार को बीमारू राज्यों की श्रेणी से बाहर देखना चाहते हैं तो भाजपा सरकार…राजग सरकार बनाइए जिसके पास जीतन राम मांझी, रामविलास पासवान, उपेंद्र कुशवाहा और सुशील कुमार मोदी जैसे लोगों का सक्षम नेतृत्व है।’

भाजपा की सरकारों वाले मध्य प्रदेश और राजस्थान के बीमार राज्यों की श्रेणी से बाहर निकलने, हरियाणा और गुजरात के तेजी से विकास के पथ पर चलने का हवाला देते हुए मोदी ने कहा, ‘हमें पांच साल दीजिए, हम सुनिश्चित करेंगे कि बिहार बीमारू की श्रेणी से बाहर आए।’

राजद को ‘रोजाना जंगल राज का डर’ बताने वाले मोदी ने आज नीतीश की जद एकी को ‘जनता का दमन और उत्पीड़न’ की संज्ञा दी।

रैली में मौजूद लोगों से मोदी ने सवाल किया, ‘हाल ही में पटना में दिन के उजाले में, सरकार की नाक के नीचे भाजपा के एक कार्यकर्ता को गोली मार दी गई।….क्या यह एक और जंगलराज की शुरुआत नहीं है?’ इस पर रैली में उपस्थित लोगों ने ‘हां….हां’ कह कर सहमति व्यक्त की।

मुजफ्फरपुर की रैली में नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए ‘डीएनए’ वाली टिप्पणी करने वाले मोदी ने गया की रैली में बिहार के मुख्यमंत्री के खिलाफ कोई निजी टिप्पणी नहीं की, हालांकि विकास के कथित अभाव को लेकर नीतीश पर हमला बोला।

उन्होंने राजद के चुनाव निशान का हवाला देते हुए कहा, ‘ये लोग बिहार को अंधेरे में रखने के लिए हाथ में लालटेन थामे हुए हैं।’ मोदी ने कहा, ‘आज के समय में सिक्किम जैसे छोटे राज्य में बिजली का प्रति व्यक्ति उपभोग 1000 किलोवाट है, जबकि बिहार में 150 किलोवाट है। बिहार से निकला झारखंड भी पांच गुना अधिक बिजली का उपभोग करता है।’
उन्होंने सत्ता में आने पर राजग के बिहार की तकदीर बदल देने की बात पर जोर देते हुए कहा कि बीते 25 बरसों में राज्य में आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण शिक्षा के क्षेत्र की अनदेखी की गई है।

मोदी ने कहा, ‘बिहार में 17 से 20 साल की उम्र के 80 लाख लोग हैं। उन्हें तकनीकी शिक्षा और कौशल विकास की जरूरत है।..परंतु बिहार में इंजीनियरिंग की सिर्फ 25 हजार सीटें हैं, जबकि ओड़ीशा में 1.13 लाख, पंजाब में 1.04 लाख तथा उत्तराखंड में 40,000 सीटे हैं।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि चार लाख से अधिक बिहारी छात्र दूसरे राज्यों के इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़ाई कर रहे हैं जिससे बिहार को हर साल 4000 करोड़ का नुकसान होता है।

उन्होंने नीतीश कुमार पर अपने ‘अहंकार’ के चलते राज्य के विकास के लिए ‘दिल्ली के साथ नहीं चलने’ को लेकर निशाना साधा। नीतीश पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा, ‘गंगा में पानी का तेज प्रवाह है लेकिन राज्य प्रमुख ‘लोटा उल्टा’ लिए हुए हैं इसलिए यह वहां नहीं पहुंच पर रहा है।’

बिहार में पर्यटन के विकास की असीम संभावनाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह सिर्फ ‘वोट बैंक की राजनीति’ के कारण नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा, ‘हाल ही में मैंने कई एशियाई देशों का दौरा किया। कम्युनिस्ट शासन वाले देशों के नेताओं ने भी बोध गया की यात्रा करने की उत्सुकता जताई। पूरे देश के लोग गया में अपने पुरखों का पिंडदान करना चाहते हैं।’

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि दशकों पहले महात्मा गांधी ने नौ अगस्त के दिन अंग्रेजों भारत छोड़ो का आह्वान किया था और आज बिहार के लोगों को उन लोगों के लिए यही आह्वान करना चाहिए जो जंगल राज के लिए जिम्मेदार हैं।

शाह ने नीतीश कुमार पर अपने विज्ञापन और प्रचार में 300 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘नीतीश कुमार समाजवादी होने का दावा कर सकते हैं, लेकिन अपनी छवि को चमकाने के लिए जो धन उन्होंने खर्च किया, उसे लोगों को बिजली, पानी और स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने में किया जा सकता था।

क्या इन्हें देंगे दोबारा मौका:

प्रधानमंत्री ने रविवार को गया में हुई रैली में ‘जंगलराज’ शब्द का कई बार जिक्र किया और कहा कि बिहार की जनता ‘जंगलराज पार्ट 2’ को आने की अनुमति नहीं दे। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आपने 25 साल तक राज्य पर शासन करने वालों के अहंकार, उत्पीड़न और धोखाधड़ी को झेला है। क्या आप पांच साल और इन्हीं लोगों को शासन करने का मौका देंगे?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.