December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

वाराणसी में बोले नरेंद्र मोदी, लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक के बाद मनाई थी छोटी दिवाली

मोदी ने देशवासियों से कहा कि आप सैनिकों को उस समय भी याद रखें जब सीमा पर गोलियों और गोलाबारी की आवाजें नहीं सुनाई दे रही हों।

Author वाराणसी | October 24, 2016 19:58 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में कई योजनाओं का शिलान्यास किया। साथ में हैं राज्यपाल राम नाइक (बाएं), पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और संचार एवं रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा (PTI Photo/24 Oct, 2016)

उत्तरप्रदेश समेत कुछ राज्यों में आसन्न विधानसभा चुनाव से पहले ‘लक्षित हमले’ (सर्जिकल स्ट्राइक) के मुद्दे को जीवंत बनाए रखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार 24 को कहा कि जब नियंत्रण रेखा के पार जाकर सेना ने आतंकवादियों के शिविरों को नष्ट किया था तब लोगों ने ‘छोटी दिवाली’ मनाई थी, साथ ही उन्होंने देशवासियों से सुरक्षा बलों के पराक्रम को नहीं भूलने को कहा। अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कई परियोजनाओं का शुभारंभ करने के बाद एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने देशवासियों से कहा कि आप सैनिकों को उस समय भी याद रखें जब सीमा पर गोलियों और गोलाबारी की आवाजें नहीं सुनाई दे रही हों। उन्होंने कहा, ‘जब मैं टीवी पर देखता हूं, समाचारपत्रों में पढ़ता हूं और कुछ स्थानीय लोग यह बताते हैं कि काशी में छोटी दिवाली मनायी गई। जब सेना ने 29 सितंबर को पराक्रम दिखाया तब पूरी काशी ने उत्सव मनाया।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आपके सांसद होने के नाते आपने जिस तरह से सशस्त्र सेनाओं के पराक्रम को श्रद्धांजलि दी और उनके प्रति समर्थन व्यक्त किया, इसके लिए मैं गर्व महसूस करता हूं।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्र सशस्त्र बलों को यह संदेश देने में सफल रहा है कि पूरे देश के सवा सौ करोड़ लोग उनके साथ हैं। उन्होंने देशवासियों से सुरक्षा बलों को दिवाली के शुभकामना संदेश भेजने को कहा। सुरक्षा बलों को शुभकामनाएं एक ऐप्प के जरिये भेजी जा सकती हे जिसे 1922 पर मिस्ड कॉल करके डाउनलोड किया जा सकता है। मोदी ने कहा, ‘सुरक्षा बलों को हमेशा यह महसूस होना चाहिए कि हम उनके बारे में कितना गर्व महसूस करते हैं।’ उन्होंने कहा कि देश को उनके पराक्रम और साहस की हमेशा सराहना करनी चाहिए।

अपनी सरकार की पहल का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘हमारी सरकार ऐसी नहीं है जो सिर्फ शिलान्यास का काम करने के बाद रुक जाए। हम यह सुनिश्चित करते हैं कि योजनाएं पूरी हों।’ उन्होंने कहा कि योजनाएं समाचारपत्रों में विज्ञापन प्रकाशित कराने के लिए नहीं हैं बल्कि इनका वास्तविक मकसद ठीक ढंग से इन्हें लागू करके लोगों के जीवन में बदलाव लाना है। प्रधानमंत्री ने एक गैस पाइपलाइन, बिजली परियोजना समेत सात परियोजनाओं का शिलान्यास किया जिस पर 5000 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा पर बरसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 7:52 pm

सबरंग