ताज़ा खबर
 

केंद्र सरकार का फैसला: एक व्‍यक्ति को डिजिटल पेमेंट सिखाने पर IAS अफसरों को मिलेगा 10 रुपए का इंसेंटिव

व्‍यक्ति को डिजिटल पेमेंट के 5 तरीकों में किसी का इस्‍तेमाल करके कम से कम दो सफल ट्रांजेक्‍शन करने होंगे।
अमृतसर में अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Source: PTI)

देश में ‘कैशलेस’ लेन-देने को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने अधिकारियों को इंसेंटिव देने का फैसला किया है। एएनआई के अनुसार, सरकार उन जिला कलेक्‍टरों/जिलाधिकारियों/डिप्‍टी कमिश्‍नर को एक व्‍यक्ति को डिजिटल पेमेंट करने योग्‍य बनाने के लिए 10 रुपए का इंसेंटिव देगी। शर्त ये है कि व्‍यक्ति को डिजिटल पेमेंट के 5 तरीकों में किसी का इस्‍तेमाल करके कम से कम दो सफल ट्रांजेक्‍शन करने होंगे। इन तरीकों में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस, यूएसएसडी (*99# बैंकिंग), आधार द्वारा भुगतान, वॉलेट्स और रुपे/डेबिट/क्रेडिट/प्रीपेड कार्ड्स शामिल हैं। इस संबंध में सबसे अच्‍छा प्रदर्शन करने वाले 10 जिलों को नीति आयोग/भारत सरकार द्वारा डिजिटल पेमेंट चैंपियंस का अवार्ड दिया जाएगा। कैशलेस होने वाली पहली 50 पंचायतों को नीति आयोग/भारत सरकार की तरफ से डिजिटल पेमेंट अवार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। सरकार ने सभी अहम विभागों से ऑनलाइन और डिजिटल ट्रांजैक्शन करने को कहा है।

सरकार डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जगह आधार नंबर पर आधारित सभी ट्रांजैक्शन्स करने की योजना पर काम कर रही है। दरअसल, नीति आयोग चाहता है कि देश में सभी प्रकार के ट्रांजैक्‍शंस के लिए केवल आधार कार्ड का ही उपयोग किया जाए। अगर ऐसा होता है तो लोगों के पर्स में रहने वाला कार्ड (डेबिट/क्रेडिट) पुराने दिनों की बात रह जाएगी। इसकी जगह 12 अंकों वाला आधार नंबर ले लेगा।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर की रात 8 बजे 500 और 1000 के पुराने नोट को रद्द करने का एलान किया था। उसकी जगह रिजर्व बैंक ने नए किस्म के 500 और 2000 रुपये के नोट बाजार में उतारे हैं। सरकार कैशलेस सोसायटी के तहत डिजिटल ट्रांजैक्शन्स पर जोर दे रही है। सरकार का मानना है कि ऐसा करने से काला धन समाप्त होगा और समाज में पारदर्शिता आएगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘कैशलेस सोसाइटी’ की वकालत पर सवाल खड़े किए। उनके मुताबिक, गांवों में रहने वाली आधी से ज्यादा आबादी को लेन-देन के इन डिजिटल तरीकों के बारे में बताने के लिये केंद्न सरकार ने कोई तैयारी नहीं की है। अखिलेश ने पीएम से पूछा कि ”आप (मोदी) बताएं कि डिजिटल इंडिया के लिये आपकी क्या तैयारी है। कैशलेस लेन-देन करना कौन सिखाएगा। इसे गांव तक कैसे पहुंचाएंगे। नौजवान तो फिर भी इसे कर लेते हैं लेकिन बाकी लोगों का क्या।”

नोटबंदी के बाद हैदराबाद से पकड़े गए 95 लाख, बेंगलुरु से 4.7 करोड़; ज़्यादातर नोट 2000 के

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. U
    unIImm
    Dec 4, 2016 at 3:20 pm
    Globalization खत्तम हो रहा है.. Australia, Canada , New Zealand इम्मिग्रेशन के लिये जल्दी संपर्क करे uniimmGlobalization is ending.. if you want to immigrate, you should step out and contact before it become too late... is best in business and acme in ethics and result.
    (0)(0)
    Reply
    1. U
      unIImm
      Dec 4, 2016 at 3:21 pm
      Globalization खत्तम हो रहा है.. Australia, Canada , New Zealand इम्मिग्रेशन के लिये जल्दी संपर्क करे uniimmGlobalization is ending.. if you want to immigrate, you should step out and contact before it become too late... uniimmDOTcom is best in business and acme in ethics and result.
      (0)(0)
      Reply
      1. U
        unIImm
        Dec 4, 2016 at 3:20 pm
        Globalization खत्तम हो रहा है.. Australia, Canada , New Zealand इम्मिग्रेशन के लिये जल्दी संपर्क करे uniimmDOTGlobalization is ending.. if you want to immigrate, you should step out and contact before it become too late... is best in business and acme in ethics and result.
        (0)(0)
        Reply
        1. U
          unIImm
          Dec 4, 2016 at 3:19 pm
          Globalization खत्तम हो रहा है.. Australia, Canada , New Zealand इम्मिग्रेशन के लिये जल्दी संपर्क करे Globalization is ending.. if you want to immigrate, you should step out and contact before it become too late... is best in business and acme in ethics and result.
          (0)(0)
          Reply
          1. S
            shivshankar
            Dec 4, 2016 at 7:28 pm
            आईएएस अफसरों की जगह अगर आरएसएस को ये ठेका दे दिया जाये तो digitalisation . एक दिन मैं हो सकता है
            (0)(0)
            Reply
            1. S
              S.Ganeash
              Dec 5, 2016 at 6:33 am
              Ias officer sirf 10₹ ke liye pareshan hoge unke p to pahelese Ambaar Laga pada hai....wwahhhhh..Modiji
              (0)(0)
              Reply
              1. S
                S.Ganeash
                Dec 5, 2016 at 6:32 am
                Only aaam admi ke p kaaala dhan hai????? Abki Jo Swissbank main hai woh kya hai....wahh....Hamlog bhi bade Bewakooph hai..!!!?
                (0)(0)
                Reply
                1. S
                  Subhash Garasiya
                  Dec 4, 2016 at 4:11 pm
                  modi ji ka tarika gooooood
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. Load More Comments