ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी ने भगवान को किया याद, कहा: बुद्ध के मार्ग से ही मिल सकती है युद्ध से मुक्ति

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आज कहा कि विश्व का बड़ा भू-भाग इन दिनों युद्ध से रक्त रंजित है और भगवान बुद्ध की करूणा की सीख ही दुनिया को जंग से मुक्ति दिला सकती है।
Author May 4, 2015 13:50 pm
विनाशकारी भूकंप से बड़ी तबाही का सामना करने वाले भगवान बुद्ध की जन्मस्थली और भारत के ‘‘प्यारे पड़ोसी देश नेपाल’’ के संकट से शीघ्र उबरने की नरेंद्र मोदी ने की कामना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आज कहा कि विश्व का बड़ा भू-भाग इन दिनों युद्ध से रक्त रंजित है और भगवान बुद्ध की करूणा की सीख ही दुनिया को जंग से मुक्ति दिला सकती है।

उन्होंने विनाशकारी भूकंप से बड़ी तबाही का सामना करने वाले भगवान बुद्ध की जन्मस्थली और भारत के ‘‘प्यारे पड़ोसी देश नेपाल’’ के संकट से शीघ्र उबरने की भी कामना की।

यहां तालकटोरा स्टेडियम में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आनंद भरे पल में हम कुछ बोझिल भी महसूस कर रहे हैं। बोझिल इसलिए कि भगवान बुद्ध की जन्मस्थली, हमारा प्यारा पड़ोसी नेपाल बहुत ही बड़े संकट से गुजर रहा है। वहां के लोगों के संकट की यह यात्रा कितनी कठिन और लंबी होगी उसकी कल्पना भी मुश्किल है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम उनके आंसुओं को पोछें, उन्हें एक नई शक्ति प्राप्त हो, इसके लिए आज हम भगवान बुद्ध के चरणों में प्रणाम करते हैं।’’

मोदी ने कहा, ‘‘आज विश्व युद्ध से जूझ रहा है, मौत पर उतारू है। विश्व का बड़ा भू-भाग रक्त रंजित है। इस खून-खराबे में करूणा का संदेश कहां से आए? मरने-मारने पर उतारू लोगों के बीच करूणा कौन लाए, कहां से लाए? रास्ता एक ही है भगवान बुद्ध की करूणा की शिक्षा।’’

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ‘‘अगर युद्ध से मुक्ति पानी है तो भगवान बुद्ध के मार्ग से ही मिल सकती है। कभी कभार लोगों को भ्रम होता है कि सत्ता और वैभव से समस्या का समाधान हो जाएगा लेकिन बुद्ध का जीवन इस सोच को नकारता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग