December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

नगरोटा में शहीद हुए मेजर के पिता ने कहा- हमें गर्व है, पर और बेटों की शहादत से पहले कुछ तो ठोस करे सरकार

मंगलवार सुबह जम्मू-कश्मीर के नागरोटा में आर्मी यूनिट पर हमला हुआ। इस हमले में 7 जवान शहीद हुए, जबकि 3 आतंकी मार गिराए गए।

मेजर कुणाल गोसावी (बाएं) और लांसनायक संभाजी यशवंत कदम (दाएं)।

जम्‍मू कश्‍मीर के नगरोटा में मंगलवार को आर्मी यूनिट पर फिदायीन हमला किया गया, जिसमें 2 अफसर व तीन जवान शहीद हो गए। शहीद होने वालों में एक महाराष्ट्र के सोलापुर जिले के रहने वाले मेजर कुणाल गोसावी थे। मेजर कुणाल इस हमले से तीन दिन पहले ही सोलापुर के पंधारपुर स्थित अपने घर से एक महीने की छुट्टी के बाद लौटे थे। 32 साल के कुणाल अपनी पत्नी ऊमा और तीन साल की बेटी उमंग के साथ 26 नवंबर को पंधारपुर से जम्मू आए थे। उन्होंने सोमवार को अपनी ड्यूटी ज्वाइन की थी। कुणाल के परिवार को मंगलवार सुबह एक अधिकारी का फोन आया और उनके शहीद होने की सूचना दी गई।

दुख में डूबे उनके पिता मुन्नागिर गोसावी ने कहा, “बेटे को खो देने का गम है, लेकिन मुझे गर्व है कि मेरा बेटा देश के लिए लड़ते हुए शहीद हुआ। मैं चाहता हूं कि सरकार अब दुश्मन के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़े, ताकि हमें और जवान ना खोने पड़ें।” पत्नी और बेटी के अलावा कुणाल के परिवार में माता-पिता और दो भाई हैं। परिवार की पंधारपुर शहर में दुकानें हैं और पास के गांव में कुछ खेत।

मेजर कुणाल के दोनों भाई उनसे छोटे थे, जो पारिवारिक बिजनेस संभालते हैं। कुणाल ने स्कूल की पढ़ाई पंधारपुर से की थी, वहीं ग्रेजुएशन पुणे के ब्रिहान महाराष्ट्र कॉलेज ऑफ कॉमर्स से की थी। वह 2006 में सेना से जुड़े थे और उनकी शादी 2009 में हुई। बता दें कि मंगलवार सुबह जम्मू-कश्मीर के नागरोटा में आर्मी यूनिट पर हमला हुआ। इस हमले में 7 जवान शहीद हुए, जबकि 3 आतंकी मार गिराए गए।

इस हमले में कुणाल के साथ महाराष्ट्र के नांदेड जिले के रहने वाले लांसनायक संभाजी यशवंत कदम भी शहीद हुए हैं। नांदेड के लोहा तालुका के रहने वाले शहीद संभाजी कदम मराठा लाइट इंफंट्री में भर्ती हुए थे। यशवंत कदम के परिवार में पिता यशवंत, माता लता, पत्नी शीतल, तीन साल की बेटी तेजस्विनी और दो बहने हैं। परिवार का जनापुरी में छोटा सा फार्म है। गांव के सरपंच बाला पाटिल ने परिवार को कदम के शहीद होने की सूचना दी थी। हमले में शहीद होने वालों में बेंगलुरु के रहने वाले मेजर अक्षय गिरीश कुमार भी थे। 31 वर्षीय अक्षय ने पांच साल पहले अपने बचपन की मित्र संगीता से शादी की थी। उनकी 2.5 साल की एक बेटी है। बताया जाता है कि अक्षय के पिता भी वायुसेना के पायलट रह चुके हैं।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 8:21 am

सबरंग