ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: पैगंबर पर टिप्‍पणी के विरोध में निकली रैली में लगे ‘ISIS जिंदाबाद’ के नारे, चार गिरफ्तार

हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी के कथित तौर पर पैगंबर मोहम्‍मद के खिलाफ की गई एक टिप्‍पणी को लेकर तीन राज्‍यों में प्रदर्शन।
पैगंबर के ख‍िलाफ की गई एक टिप्‍पणी से नाराज हजारों मुस्‍ल‍िम शुक्रवार को बेंगलुरु की सड़कों पर उतरे। (PTI)

हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी के कथित तौर पर पैगंबर मोहम्‍मद के खिलाफ की गई एक टिप्‍पणी को लेकर शुक्रवार शाम बेंगलुरु और मुजफ्फरनगर में हजारों मुसलमान सड़कों पर उतरे। प्रदर्शनकारियों ने तिवारी के लिए मौत की सजा मांगी। साथ ही भड़काऊ भाषणों पर लगाम कसने के लिए बने कानूनों को और ज्‍यादा कड़े करने की मांग की। वहीं, राजस्‍थान के टोंक जिले में इसी तरह की रैली में कुछ लोगों ने आईएसआईएस और पाकिस्‍तान के समर्थन में नारे लगाए, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। जांच अधिकारी गोपी चंद ने रविवार को बताया कि चार लोगों की पहचान फिरोज, वसीम, वसीम अकरम और मोहम्मद फाहिद के रूप में की गई है। चारों को जांच में दोषी पाये जाने पर शनिवार रात गिरफ्तार किया गया। सभी की उम्र 25 वर्ष से 32 वर्ष के बीच है। आईपीसी की धारा 153 ए के तहत मामला दर्ज किया गया था।

राजस्‍थान में लगे आईएसआईएस के समर्थन में नारे
यह रैली टोंक जिले के मलपुरा में हुई थी। यह रैली भी कमलेश तिवारी के बयान के विरोध में निकाली गई थी। एसपी टोंक दीपक कुमार ने बताया, ”रैली के दौरान, कुछ लोगों ने आतंकी संगठन आईएसआईएस के समर्थन में नारे लगाए। सुरक्षा के लिए वहां तैनात किए गए पुलिसवालों ने इस बारे में मुझे जानकारी दी है। वीडियो फुटेज के आधार पर कम से कम पांच लोगों की पहचान की गई है।” शनिवार को मलपुरा पुलिस स्‍टेशन में ऐसे ही कुछ लोगों के खिलाफ ‘ISIS जिंदाबाद’ का नारा लगाने के आरोप में  एफआईआर दर्ज की गई। एसपी के मुताबिक, इस बात की भी खबर मिली है कि पाकिस्‍तान के समर्थन में भी नारे लगे, लेकिन ऐसा वीडियो फुटेज में नहीं पता चलता। एसपी ने कहा कि यह मामला बेहद गंभीर है और इसकी गहन जांच हो रही है। बता दें कि गुरुवार को ही आईएसआईएस की विचारधारा का सोशल मीडिया पर प्रसार करने के आरोप में जयपुर से एक इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के कर्मचारी मोहम्‍मद सिराजुद्दीन को अरेस्‍ट किया गया था।

कमलेश त‍िवारी (फाइल) कमलेश त‍िवारी (फाइल)

यूपी में कई जगह प्रदर्शन 

बेंगलुरु में शुक्रवार शाम हुए प्रदर्शन की वजह से करीब तीन घंटों तक ट्रैफिक जाम रहा। करीब 20 हजार मुसलमान प्रदर्शनकारियों ने नंदीदुर्गा रोड पर ईदगाह मैदान तक मार्च किया। पुलिस का कहना है कि मार्च शांतिपूर्ण रहा और कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। वहीं, सांप्रदायिक तौर पर बेहद संवेदनशील माने जाने वाले यूपी के मुजफ्फरनगर में भी ऐसा ही प्रदर्शन हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, करीब एक लाख मुसलमानों ने यहां प्रदर्शन किया। इतनी ज्‍यादा भीड़ देकर पुलिस के पसीने छूट गए। कई घंटों तक जाम के हालात रहे। स्‍कूल-कॉलेजों में छुट्टी कर दी गई। सुरक्षा व्‍यवस्‍था पीएसी और रैपिड एक्‍शन फोर्स के हवाले रही। यूपी में संभल, रामपुर, अमरोहा, मुरादाबाद, गोरखपुर समेत कई अन्‍य जगहों पर भी प्रदर्शन हुए।

ट्विटर ट्रेंड में आए तिवारी

कमलेश ति‍वारी शनिवार शाम को काफी वक्‍त तक टि्वटर ट्रेंड में भी छाए रहे

Read Also:

पैगंबर पर बयान देने वाले तिवारी से हिंदू महासभा ने किया किनारा, मुस्‍लिम धर्मगुरु ने सिर पर रखा 51 लाख का इनाम

जज के सामने गिड़गिड़ाया ISIS एजेंट सिराजुद्दीन, बोला- मैं अभी पिता बना हूं, नरमी बरतें

महाराष्‍ट्र: असहिष्‍णुता पर संसद में बहस के बीच ISIS पर लेख और कार्टून छापने वाले अखबार पर हमला 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sonu thakur
    Jan 5, 2016 at 2:17 pm
    केश तिवारी का हम पूरा साथ देंगे , अगर किसी की में दम है फांशी दो ,औकाद है का पता चल जायेगा,इतने दादरी होंगे की जगह काम पड़ जाएगी कब्रिस्तान में
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      abdul wahab
      Dec 16, 2015 at 6:34 am
      Mere muslim bhaio isis se bharatiy muslmaan ka ka koi lena dena nhi hai...hume tiwari ki fansi chahiye...ager koi pak ya isis k zindabaadk nare lagata hai to aap log khud hi us ko pakd kr k police k hawale kr do....warna to bhiayo hamaari fansi ki maang bhatak jayegi ...kyun k k ye nare lagane wale sarkaar k hi aadmi hain bhale wo sar pr topi aur naam kuslmaano wala bataein ...warna ini bheed mein chaar aadmi kaise pahchane e ..hume bas tiwari ko fansi chahiye
      (0)(0)
      Reply
      1. A
        ans
        Jan 4, 2016 at 7:06 pm
        ये जो भीड़ इकट्टा करके ड्रामेबाजी कर रहे हो अगर हम हिन्दू इकठा हो गए तो एक दिन के नश्ते के लिए भी काफी नहीं होंगे तुम सब ..तिवारी ने जो कहा है ी कहा है जिस भी मुल्ले की में दम है वो हाथ लगा के दिखये फिर हम समझायेंगे की कैसे रहा जाता है हिंदुस्तान के अंदर ..मुल्लो ये सऊदी अरब नही है सर पे मौत सजा के हम भी तय्यार है बस इन्तेजार है तो दिल्ली से हरी झंडी का ...फिर अल्लाह भी मरवाता हुआ फिरेगा हिंदुस्तान में कश्मीर से कन्याकुमारी तक
        (0)(0)
        Reply
      2. S
        sharabi
        Dec 14, 2015 at 1:48 am
        विश्व बजार मे कच्चे तेल कि कीमत लगभग अढाई सौ प्रतिशत कम हुई हमारी सरकार पच्चीस प्रतिशत भी दाम कम नही कि है उसपर हमारे प्रधानमंत्री गैस सब्सिडी छोडने का आवेदन करते है । तो मेरा कहना है कि जिस दिन सांसद विधायक अपनी मुफ्त मे मिलने वाली सुविधाएं जैसे कि हवाई जहाज .रेल. टेलीफोन. फलैट. बंगला. AC. Luxury car .ईत्यादि औऱ उन्हे VIP सुविधाएं. संसद के केन्टीन का भोजन मे सब्सिडी. नौकर चाकर .महंगे कपडे. सुट बुट बंन्द हो जायेगी उसी दिन मै आपना LPG सब्सिडी छोड दुंगा त्याग करना सिर्फ जनता का हि काम नही है ः नेत
        (0)(0)
        Reply
        1. S
          sonu thakur
          Feb 7, 2016 at 8:26 am
          में तुम्हारे अब्बा थे जिन्होंने मरवा ली थी इसीलिए नहीं छोड़ेंगे koi
          (0)(0)
          Reply
        2. Hindu planet
          Dec 12, 2015 at 6:19 pm
          मुसलमान अगर 26 /11 हे के समय आंतकवादियों के विरोध में ऐसा करते तो उनकी देशभक्ति पे शक ना होता
          (0)(0)
          Reply
          1. S
            sonu thakur
            Feb 7, 2016 at 8:28 am
            उस समय अपनी मैया रहे थे सेक्युलर सेल
            (0)(0)
            Reply
            1. A
              ans
              Jan 4, 2016 at 7:13 pm
              इन कटवो से कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है ...तुम सब हिन्दू शेर हो शेरो की तरह हुंकार भरो ..ऐसी हुंकार जैसे वर अर्जुन भरता थाजैसे शिवाजी भरते थे जैसे सुभास चन्द्र बॉस भरते थे इनकी माँ भोसड़ा करने का टाइम आ गया है या हम नहीं या ये नहीं .गानन्द तोड़ो ो की जहा भी दिखे मार दो सालो को,होने दो गृह युद्ध,इनको दिखने दो इनकी में कितना दम है
              (0)(0)
              Reply
            2. R
              RKN
              Dec 12, 2015 at 12:03 pm
              आप किसी के मजहब और भगवान का अपमान नहीं कर सकते इसके लिए सख्त कानून बनाना चाहिए , लेकिन आप लोगो ने PK फिल्म भी देखि होगी उस समय भी सड़को पर उतरना चाहिए था जो एक समुदाय के भगवान का ख्ुालमखुला अपमान किया जा रहा था
              (0)(0)
              Reply
              1. प्रो. रमेश
                Dec 13, 2015 at 5:12 am
                हर मजहब की हिफाज़त करने वाले ठीकेदार कहाँ हैं ? अिष्णुता चरम पर, आर्थिक विषमता की पराकाष्ठा, कुपोषण अपने गुबार पर और जातिवाद का नंगा नृत्य और वो गर्व से कहते हैं "हम सोशलिस्ट हैं"
                (0)(0)
                Reply
                1. S
                  Shahrukh
                  Dec 13, 2015 at 3:47 pm
                  To uske liye aap log ko raili nikalna chahiye tha na. Kya iske liye hum hi kare lag raha hai pura theka humi log ne le rakha hai
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. S
                    Shahrukh
                    Dec 13, 2015 at 3:42 pm
                    Tum hamare deshbhakti Kya bayan karoge .hum sirf musalman hi nahi is desh ke vasi hai tumhari tarah aur iske liye hume koi pramanpatra Dene ki jarurat nahi
                    (0)(0)
                    Reply
                    1. M
                      Md S
                      Dec 12, 2015 at 1:21 pm
                      ye तो है ही की pk में हिन्दू धर्म का अपमान hota है.वो अपमान नही करता तुम हिन्दू धर्म के मैंने वालो को आइना दिखत है की
                      (0)(0)
                      Reply
                      1. S
                        sunder
                        Dec 12, 2015 at 8:18 pm
                        केश तिबारी ने जो कहा ी कहा।
                        (0)(0)
                        Reply
                        1. N
                          Nadim Dal
                          Dec 17, 2015 at 6:49 pm
                          Beta tu yaha ek baar mil ja fir tujhe batata hu ki Sahi kaha ya galat tera Sar uda na du to me Muslim ki pedaish nahi
                          (1)(0)
                          Reply
                        2. S
                          sunder
                          Dec 12, 2015 at 8:16 pm
                          (0)(0)
                          Reply
                          1. S
                            sunder
                            Dec 12, 2015 at 8:16 pm
                            (0)(0)
                            Reply
                            1. Ashish Trivedi
                              Dec 12, 2015 at 6:49 pm
                              आइसिस के विरुद्ध रैली निकालने के लिए 5 मुसलमान भी एकत्र नहीं हो पाते लेकिन तोड़फोड़ आगज़नी लूटपाट करवानी हो या आतंकवादियों का समर्थन करना हो तो जाने किस किस बिल से कोकरोच की तरह लाखों मुसलमान बाहर निकल आते हैं
                              (0)(0)
                              Reply
                              1. A
                                ans
                                Jan 4, 2016 at 7:09 pm
                                ू वाली बाते मत करो हमारे अंदर कश्तियों का रक्त है अगर जिएंगे तो खटिया की भाटी और अगर मार्नेगे तो वेरो की भाटी ये कायरता वाली बाते हिन्दओ को शोभा नहीं देती ये दो टेक के मुस्लमान भोसडीके जिनको पहले भी भी मर मर के मुस्लमान बनाया था अब इनको वापस हिन्दू बनाने का समय आ गया है ..इनकी तोड़ के इनके हाथ में देने का समय आ गया है जहा भी मुस्लमान दीखता है उसको मार दो या मर जाओ छोड़ना नहीं ो को
                                (0)(0)
                                Reply
                              2. Ashish Trivedi
                                Dec 12, 2015 at 6:51 pm
                                केश तिवारी ने भी आइना दिखाया है....
                                (0)(0)
                                Reply
                                1. T
                                  Tawwab ali
                                  Dec 13, 2015 at 5:49 am
                                  Suwar तिवरी को फसी दो
                                  (0)(0)
                                  Reply
                                  1. A
                                    Angit Singh
                                    Dec 13, 2015 at 9:04 pm
                                    तुम क्यों नहीं फांसी दे देते हो ? यही है िष्णुता तुम्हारी ? उस रैली में तुम जैसे ही कुछ लोग होंगे जो सर कलम करने का बोर्ड लिए घूम रहे होंगे | ज्यादा दिमाग मत चलाओ फट जानी है एक दिन | अगर तुम्हे कुछ करने का शौक है तो जाओ केस लड़ो या अगर मारने का शौक है तो जाओ, उसको मारो और फांसी पे चढ़ जाओ | खुद कि क़ुर्बानी दो, उपरवाले खुश होंगे | मेरे भाई, उसने गलती कि है तो सज़ा क़ानून और उपरवाला देगा, तुम क्यों घर में बैठे अपना दिमाग गर्म कर रहे हो ?
                                    (0)(0)
                                    Reply
                                    1. A
                                      ans
                                      Jan 4, 2016 at 6:57 pm
                                      अबे मुल्लो हमारा दिमाग अगर फिर गया तो पाकिस्तान में भी जगह नहीं मिलेगी ये ड्रामेबाजी बंदकरो औरमादर् मोह्हमद की मारो जाके यह मत भौको ..तुम्हारे बाप का शरिया नहीं लगा हुआ है ..राजनितिक पार्टियो ने तुम्हारा दिमाग ख़राब कर दिया है पर हम तुम्हारा दिमाग ी करेंगे जल्दी
                                      (0)(0)
                                      Reply
                                    2. T
                                      Tawwab ali
                                      Dec 13, 2015 at 5:54 am
                                      क गट्टो देस की सुचो
                                      (0)(0)
                                      Reply
                                      1. T
                                        Tawwab ali
                                        Dec 13, 2015 at 5:52 am
                                        तिवारी की मकई चोट और ओस के समर्थन करने वाली देस के अद्दर hi
                                        (0)(0)
                                        Reply
                                        1. Load More Comments
                                        सबरंग