ताज़ा खबर
 

मुस्लिम महिला का आरोप- पति ने तीन तलाक देकर निकाह-ए-हलाला के नाम पर दोस्त से करवाया रेप

महिला के अनुसार उसके पति ने शादी के 25 साल बाद एक दिन उसे 'तीन तलाक' दे दिया।
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo: Reuters)

राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक 42 वर्षीय मुस्लिम महिला ने अपने पति के दोस्त पर रेप का मामला दर्ज कराया है। महिला के अनुसार उसके पति ने निकाह-ए-हलाला के बहाने उसे अपने दोस्त से उसका रेप करवाया। इस्लामी शरियत के अनुसार अगर किसी तलाकशुदा महिला को अपने पूर्व पति से शादी करनी है तो उसे किसी अन्य व्यक्ति के साथ शादी करके शारीरिक संबंध बनाना होगा। उसके बाद नए पति से तलाक लेकर वो पुराने पति से शादी कर सकती है। इस तरह के निकाह को मुस्लिम पर्सनल में निकाह-ए-हलाला कहते हैं। पीड़िता ने हिंदुस्तान टाइम्स अखबार को बताया कि वो शर्म और अपमान से उबर नहीं पा रही है। महिला ने आरोप लगाया है कि उसके पति ने अपने दोस्त से उसका बलात्कार कराया।

महिला के अनुसार उसके पति ने शादी के 25 साल बाद आठ महीने पहले उसे तलाक दिया था। महिला का पति उसका कज़न है। उनके दो बेटे हैं। महिला के अनुसार महिला का पति उससे बार-बार अपने दोस्त के संग शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहता था। उसके बार-बार इनकार करने के बाद उसने एक दिन उसे ‘तीन तलाक’ दे दिया। लेकिन तलाक के बाद भी वो महिला के संग ही रहता रहा और दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी जारी रहे। पिछले कुछ समय से तीन तलाक (एक ही बार में तीन बार तलाक बोलकर तलाक देना) , निकाह-ए-हलाला और यूनिफॉर्म सिविल कोड चर्चा में हैं। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई में अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि वो तीन तलाक के महिला अधिकारों के खिलाफ मानती है।

वीडियो: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा तीन तलाक की प्रथा गलत है-

महिला के अनुसार एक दिन उसका पति उसे अपने दोस्त के घर लेकर गया। दोस्त के घर ले जाने से पहले उसके पति ने उसे कुछ टैलबेट खिलाए थे जिससे वो बेसुध हो गई। दोस्त के घर पहुंचने के बाद महिला के पति ने जबरदस्ती उसे कुछ और टैबलेट खिलाए। महिला के अनुसार उसके बाद वो बेहोश हो गई। अगली सुबह जब उसकी आंख खुली तो उसके शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था और उसके पति का दोस्त उसके बगल में सोया था।

जब महिला ने शोर मचाया तो उसका पति कमरे में आया और उसे धमकी देतेे हुए चुप रहने को कहा। जब महिला ने पुलिस में शिकायत करने और मुस्लिम नागरिक अधिकार संगठनों के पास जाने की बात कही तो उसके पति ने अपने दोस्त के साथ महिला का आपत्तिजनक वीडियो उसे दिखाते हुए चुप रहने को कहा। हालांकि महिला उसकी धमकियों से नहीं डरी और पुलिस में मामला दर्ज करा दिया।

Read Also: 100 से अधिक मुस्लिम बुद्धिजीवियों ने किया तीन तलाक का विरोध, कहा AIMPLB भारत के सभी मुसलमानों का नुमाइंदा नहीं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Abu talib
    Oct 27, 2016 at 1:52 pm
    सुन्निओं को और काम ही क्या है अपना भी मज़ाक़ बनवाते हैं इस्लाम का भी सिर्फ उमर खत्ताब की मोहब्बत की खातिर .उमर खत्ताब के हुक्म के आगे न ये क़ुरान को मानते हैं न सामान्य अक़ल और सूझबूझ को .क़ुरान में इस तरह के किसी तीन तलाक़ का कोई प्रावधान नहीं है. मगर इन लोगों को कौन समझाए ?
    (1)(0)
    Reply
    1. आशु
      Oct 27, 2016 at 11:55 am
      ये सौ फीसद आपराधिक माा है , पति की दीगर गतिविधियों की भी जाँच होनी चाहिए , शरीयत दोषी को जो सज़ा दे सकती है वह आईपीसी नही दे सकती , भारत में लूज़ सिस्टम का फायदा अपराधी को पहुंचता है
      (0)(0)
      Reply
      1. घनश्याम अग्रवाल
        Oct 27, 2016 at 9:14 am
        ohh
        (0)(0)
        Reply
        1. Y
          Yallappa
          Oct 28, 2016 at 5:15 am
          Treepal talak band Hona chahiye Muslim mahilavonko sanvidhan Adhar per nyay milna chahiye
          (0)(0)
          Reply
          सबरंग