ताज़ा खबर
 

मस्‍ज‍िद में पीटे गए इमाम ने कहा- कहता रहा आतंकियों-गद्दारों के खिलाफ हूं, फिर भी मारते रहे थप्पड़

हारून ने बताया, "बजरंग दल वाले मुझे घसीट कर बाहर ले गए और मुझसे जय श्री राम और जय माता की जैसे नारे लगाने के लिए कहने लगे।"
Author July 13, 2017 13:06 pm
मोहम्मद हारून कासनी यूपी से हरियाणा आम बेचने गए थे। (फाइल फोटो)

सुखबीर सिवाच

बुधवार (12 जुलाई) को हिसार की एक मस्जिद के 30 वर्षीय इमाम मोहम्मद हारून कासनी की बजरंग दल के कथित एक्टिविस्टों द्वारा पिटाई का वीडियो मीडिया में छाया रहा। हारून ने इंडिनय एक्सप्रेस को बताया कि वो हमलावरों को लगातार ये समझाते रहे कि वो आतंकवादियों के विरोधी हैं लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी। हारून ने कहा, “मैं उन्हें समझाता रहा कि मैं आतंकवादियों और देश के गद्दारों के खिलाफ हूं। लेकिन उन्होंने मेरी नहीं सुनी और मस्जिद से बाहर घसीट कर मुझे थप्पड़ मारे।” (खबर के आखिर में देखें घटना का वीडियो)

हारून उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के रहने वाले हैं। वो हिसार पहली बार आए थे। मंगवाल (11 जुलाई) को शाम साढ़े पांच बजे के करीब वो स्थानीय जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने गए थे। वहीं बजरंग दल के कथित कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला किया। पुलिस के अनुसार कपित वत्स नामक शख्स के नेतृत्व में अमरनाथ यात्रियों पर हमले के विरोध में निकाले जा रहे रैली के दौरान ये घटना हुई। हिसार के पुलिस एसपी मनीष चौधरी ने बताया कि वीडियो में दिख रहे एक आरोपी अनिल को पुलिस ने गिफ्तार कर लिया है। अनिल की स्थानीय ऑटो मार्केट में दुकान है।

30 वर्षीय अनिल विरोध प्रदर्शन में शामिल था। पुलिस के अनुसार पूछताछ में उसने हारून की पिटाई की बात स्वीकार की है। अनिल के अनुसर हारून ने “भारत माता की जय” कहने से इनकार किया तो उसने उनकी पिटाई कर दी। एसपी चौधरी के अनुसार अनिल बजरंग दल का कार्यकर्ता है या नहीं अभी इसकी पुष्टि की जानी है।

हारून ने बताया, “बजरंग दल वाले मुझे घसीट कर बाहर ले गए और मुझसे जय श्री राम और जय माता की जैसे नारे लगाने के लिए कहने लगे। ये मेरे मजहबी यकीन का मुद्दा था। मैं डरा हुआ था और चुपचाप खड़ा था। उन्हें मुझे लगातार थप्पड़ मारे।” हारून के अनुसार वो मौलवी हैं और हिसार आम बेचने आए थे। हारून के अनुसार घटना के वक्त मस्जिद में चार और लोग नमाज पढ़ रहे थे। हारून के अनुसार हमलावरों ने दाढ़ी और टोपी के कारण उन्हें मारपीट के लिए चुना। हारून कहते हैं कि “अगर पुलिस वक्त पर नहीं आती तो मेरी जान चली जाती।”

देखें घटना का वीडियो-

वीडियो- जानिए क्यों मुस्लिम वकील ने बदल लिया धर्म?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 13, 2017 10:31 am

  1. No Comments.
सबरंग