ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी ने चेताया, काले धन पर दिसंबर के बाद उठाए जाएंगे कड़े कदम, बोले- आजादी से अबतक के रिकॉर्ड चैक करूंगा

500-1000 रुपए के नोट बंद करने के ऐलान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार उस मुद्दे पर बोले।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। PTI Photo/PIB

500-1000 रुपए के नोट बंद करने के ऐलान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार उस मुद्दे पर बोले। जापान में भारतीय समुदाय के लोगों के बीच अपने 26 मिनट के भाषण में पीएम मोदी ने काले धन के खिलाफ 31 दिसंबर के बाद भी कार्रवाई करने का संदेश दिया। मोदी ने कहा, ‘कुछ लोग सोचते हैं कि 30 दिसंबर के बाद कोई कार्रवाई नहीं होगी। तो आज में ऐलान करना चाहूंगा कि ये स्कीम पूरी होने के बाद कोई दूसरा आपको ठिकाने लगाने के लिए नहीं आएगा इसकी गारंटी मैं नहीं लेता। मैं इस बात को स्पष्ट मानता हूं कि बिना हिसाब के अगर कुछ भी आया हाथ, तो उसका देश जब से आजाद हुआ, उसका हिसाब चेक करने वाला हूं।’ इसके अलावा 500 और 1,000 के नोट बंद करने की घोषणा पर उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने यह अचानक नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार इससे पहले कालेधन की घोषणा की योजना लेकर आई थी। पहले चरण में इसके तहत 67,000 करोड़ रुपए की घोषणा की गई।

प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के लोगों से सीख लेने की बात भी की। मोदी ने कहा, ‘मैं अपने देश के लोगों को सलाम करता हूं। लोग चार से छह घंटे तक लाइन में खड़े हुए हैं लेकिन उन्होंने राष्ट्रहित में इस फैसले को स्वीकार किया जैसा कि 2011 की आपदा के बाद जापान ने किया था।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने लोगों के समक्ष आने वाली परेशानियों पर लंबे समय तक विचार किया लेकिन इसे गोपनीय रखना भी जरूरी था। इसे अचानक किया जाना था, लेकिन मुझे कभी यह नहीं पता था कि इसके लिए मुझे शुभकामनाएं मिलेंगी।’ मोदी ने कहा, ‘मैं प्रत्येक और हर भारतीय को सलाम करता हूं। कई परिवारों में शादियां हैं, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं, उन्हें असुविधा हो रही है, लेकिन उन्होंने फैसले को स्वीकार किया है।’

मोदी ने आगे कहा कि सरकार ने जो किया है वह किसी को परेशान करने के लिए नहीं है। उन्होंने कहा, ‘कुछ दिक्कतें हैं। मैंने ईमानदार लोगों को अपना पैसा जमा कराने के लिए 50 दिन का समय दिया है। लेकिन मैं साफ करना चाहता हूं कि यदि कुछ बेहिसाबी सामने आता है, तो आजादी के बाद का सारा रिकार्ड खंगालूंगा।’

गौरतलब है कि पीएम मोदी शुक्रवार को तोक्यो पहुंचे थे। वहां से शनिवार को वह जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ बुलेट ट्रेन में बैठकर कोबे गए थे। वहां पर उन्होंने कावासाकी का प्लांट देखा। वहीं पर जापान की मशहूर बुलेट ट्रेन बनती हैं। मोदी शनिवार रात को भारत वापसी के लिए निकल पड़े थे।

वीडियो: नोट बदलने के लिए बैंक पहुंचे राहुल गांधी, कतार में खड़े रहे; कहा- “लोगों का दर्द बांटने आया हूं”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    ashish
    Nov 13, 2016 at 5:33 am
    जनसत्ता के लोग मोदी की दलाली बन्द करें।
    (0)(0)
    Reply
    1. Sidheswar Misra
      Nov 14, 2016 at 3:58 am
      जो भारत आज दिख रहा है जून २०१४ के पहले नहीं था। पूर्व प्रधान मंत्री इनके कथन के अनुसार मुर्ख थे देश में ७० साल मूर्खो ने राज्य किया है हमारे प्रिय प्रधान मंत्री के विचारो को सुनने से यही लगता है।
      (0)(0)
      Reply
      1. Sidheswar Misra
        Nov 14, 2016 at 4:02 am
        मोदी जी को प्रधान मंत्री की कुर्सी पर बैठने का पूरा इंतेजाम पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने किया था इसी कारण इतने घुटाले के बाद भी मनमोहन सिंह जेल में नहीं गए .
        (0)(0)
        Reply