ताज़ा खबर
 

सिविल सर्वेंट्स को पीएम मोदी ने पढ़ाया सोशल मीडिया का पाठ तो राहुल ने मारा ताना, स्‍मृति ईरानी ने दिया ये जवाब

मोदी देश में ट्विटर और इंस्ट्राग्राम पर सबसे अधिक फालो किये जाने वाले नेता हैं।
सिविल सर्विस डे के मौके पर अफसरों को संबोधित करते पीएम मोदी (Source-ANI)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आत्म प्रशंसा के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग नहीं करने की नौकरशाहों को नसीहत देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आड़े हाथ लेते हुए शनिवार को कहा कि उन्हें इस मामले में खुद मिसाल देकर उनकी अगुवाई करनी चाहिए। राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘साफ है कि उदाहरण देकर नेतृत्व करने को ज्यादा बढ़ा चढ़ा कर पेश किया गया है।’’ इससे पहले मोदी ने शुक्रवार को नौकरशाहों से कहा था कि वे आत्म प्रशंसा के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करें अथवा जरूरत से ज्यादा समय आनलाइन न रहें। लेकिन राहुल ने जैसे ही पीएम मोदी को इस मामले में उदाहरण पेश करने को कहा, केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर ट्वीटर के जरिये ही हमला किया। स्मृति ईरानी ने लिखा, ‘देखिए कौन बढ़ा चढ़ा कर पेश किये जाने की बात कर रहे हैं।’

बता दें कि प्रधानमंत्री जनता से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया का सक्रियता से उपयोग करते हैं। मोदी देश में ट्विटर और इंस्ट्राग्राम पर सबसे अधिक फालो किये जाने वाले नेता हैं। मोदी ने शुक्रवार को नौकरशाहों को सम्मानित करते हुए कहा था कि कुछ अफसर जरूरत से ज्यादा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं। पीएम ने उदाहरण देकर इस बात को समझाया कि कैसे सोशल मीडिया का सकारात्मक इस्तेमाल किया जा सकता है। पीएम ने कहा कि अगर सोशल मीडिया का इस्तेमाल पोलिया का ड्रॉप पिलाने की तारीख का ऐलान करने के लिए किया जाता है तो ये बहुत अच्छा है। पीएम ने आगे कहा कि लेकिन पोलियो दूर करने के ड्राप्स को पिलाकर इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया के जरिये प्रसारित की जाने लगे तो निश्चित रूप से यह ठीक नहीं है।

इसी कार्यक्रम में प्रशासनिक अधिकारियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा था कि तेज निर्णय लेने के परिणामों को लेकर उन्हें भयभीत होने की जरूरत नहीं है क्योंकि वह जनता के हित में ईमानदार निर्णय लेने वाले अधिकारियों के पीछे खड़े रहेंगे।

सिविल सर्विस डे पर पीएम मोदी बोले- "गुणात्मक परिवर्तिन के लिए, समय के साथ काम में सुधार करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.