ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार की किसानों को बड़ी राहत, माफ किया 660 करोड़ रुपए का ब्याज

मोदी सरकार ने किसानों को राहत देने वाला एक बड़ा ऐलान किया।

मोदी सरकार की कैबिनेट ने किसानों को राहत देने वाला एक बड़ा ऐलान किया। मंगलवार (24 जनवरी) को मोदी सरकार ने किसानों द्वारा लिए गए कर्ज के ब्याज को माफ कर दिया। इसमें नवंबर से दिसंबर के बीच लिए गए पैसों पर ब्याज माफी की गई। अंदाजे के मुताबिक, कुल 660.50 करोड़ रुपए का ब्याज माफ किया गया। इससे उन किसानों को फायदा होगा जिन्होंने सहकारी बैंकों से छोटी अवधि के लिए फसल के लिए लोन लिया था।

केंद्रीय कैबिनेट ने कुछ और बड़ी मंजूरी भी की। इसमें आईआईएस बिल को भी पास कर दी गया। इससे अब सभी IIM डिप्लोमा की जगह डिग्री देने में सक्षम होंगे। केंद्रीय कैबिनेट ने कुछ और बड़ी मंजूरियां भी की। इसमें आईआईएम (IIM) बिल को भी पास कर दी गया। इससे अब सभी IIM डिप्लोमा की जगह डिग्री देने में सक्षम होंगे। केंद्र ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को 11.35 एकड़ जमीन भी ट्रांसफर की है। उसके बदले केंद्र बिहार के अनीसाबाद में उसके बराबार जगह लेगी।

इसके अलावा प्रगति मैदान में एक वर्ल्ड क्लास कॉनवोकेशन सेंटर बनाने के लिए भी मंजूरी दे दी गई है। इंडिया ट्रेड प्रमोशन ऑर्गेनाइजेशन (ITPO) द्वारा बनाए जाने वाले उस सेंटर पर कुल 2,254 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

इस वक्त की बाकी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें 

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Amris chaudhery
    Feb 22, 2017 at 8:27 am
    Notbandi is ok
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      rahul
      Jan 24, 2017 at 10:25 am
      इससे क्या होगा नोटबंदी से कई असंगठित उघोगधंधे बरबाद हो गए मजदुरो का रोजगार छिन गया सैकडो लोग कतार मे मर गए कितनो के शादी विवाह टल गए इनका नुकसान कौन भरेगा ? मोदी जी को चाहिए कि खुलकर नोटबंदी की भुल स्वीकारे
      (0)(1)
      Reply
      1. s
        s.c.gupta
        Jan 24, 2017 at 11:34 am
        उन भर्स्ताचारिओ का क्या जो टैक्स के पैसे को सर्कार में बैठ कर पानी की तरह बहा रहे है
        (1)(1)
        Reply
        1. s
          s.c.gupta
          Jan 24, 2017 at 11:39 am
          परंपरा से जो भरस्टाचार विभगों में व्याप्त है , जनता को भेद बकरी समझता है विकास के नाम पर टैक्स लिए जाता है और उसे पैंदे रहित गड्ढे में दाल दिया जाता है उसे कब मिटाओगे
          (0)(1)
          Reply