ताज़ा खबर
 

कैबिनेट विस्तार: वन एवं पर्यावरण मंत्रालय में अच्छे काम का सिला, जावड़ेकर को मिली पदोन्नति

शुरुआती दिनों में प्रकाश जावड़ेकर ने आपातकाल के विरोध में सत्याग्रह भी किया था और 16 महीने तक जेल में भी रहे थे।
Author नई दिल्ली | July 5, 2016 14:18 pm
कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण करते प्रकाश जावड़ेकर।

मोदी सरकार में राज्यमंत्री से केबिनेट मंत्री बनाए गए प्रकाश जावड़ेकर को पर्यावरण मंत्रालय में उनके अच्छे काम के लिए, खासतौर से पेरिस में जलवायु परिवर्तन पर भारत का पक्ष पूरी मजबूती से रखने में सक्रिय भूमिका निभाने का इनाम मिला है। जावड़ेकर के लिए यह बदलाव इसलिए उल्लेखनीय है क्योंकि बतौर राज्यमंत्री उनसे संसदीय कार्य और सूचना एवं प्रसारण जैसे दो महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी वापस ले ली गई थी। सांसद नहीं होने के बावजूद उन्हें मंत्री परिषद में शामिल किया गया और तीन महत्वपूर्ण विभागों-पर्यावरण मंत्रालय के स्वतंत्र प्रभार समेत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और संसदीय कार्य विभाग की जिम्मेदारी दी गई।

Read Also: मोदी सरकार में 19 नए चेहरे शामिल, जावड़ेकर का क़द बढ़ाकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया 

पूर्व बैंकर 65 वर्षीय जावड़ेकर आरएसएस की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्य थे। शुरुआती दिनों में जावड़ेकर ने आपातकाल के विरोध में सत्याग्रह भी किया था और 16 महीने तक जेल में भी रहे थे। 2008 में राज्यसभा के लिए पहली बार चुने जाने से पहले 1990 और 2002 में वे महाराष्ट्र विधान परिषद में चुने गए थे। फिलहाल वे मध्य प्रदेश से राज्यसभा सदस्य हैं। पुणे के रहने वाले और वाणिज्य स्नातक जावड़ेकर भाजपा के सत्ता में आने से पहले टेलीविजन पर भाजपा के सबसे ज्यादा नजर आने वाले चेहरों में शामिल थे। वे भाजपा के प्रवक्ता थे और मंत्री परिषद में शामिल होने से पहले तक आंध्र प्रदेश में पार्टी के प्रभारी थे।

Read Alos: Cabinet Reshuffle: मंत्रिमंडल विस्‍तार के बाद मोदी सरकार के पांच मंत्रियों ने दिए इस्‍तीफे 

चंद्रबाबू नायडु की तेदेपा को राजग में शामिल करवाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। वोट के बदले नोट घोटाले को सामने लाने में भी उन्होंने खास भूमिका निभाई थी। 1971 से 1981 तक उन्होंने बैंक ऑफ महाराष्ट्र में काम किया। वे पुणे विश्वविद्यालय की सीनेट में 1975 से 87 तक सदस्य के रूप में रहे और 1981 के बाद से भारतीय जनता पार्टी के पूर्णकालिक सदस्य हैं। वे 1984 से 1990 के बीच भारतीय युवा मार्चा के महासचिव और राष्ट्रीय सचिव रह चुके हैं और भाजपा की महाराष्ट्र इकाई में अभियान प्रमुख भी रह चुके हैं। वे भाजपा की महाराष्ट्र इकाई में प्रवक्ता थे और 2005 से पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं।

Read Alos: अनुप्रिया पटेल: BJP ने खेला UP के लिए दांव, पर अपनी ही पार्टी से निष्‍कासित हैं मोदी की नई मंत्री, मां से है जबरदस्‍त झगड़ा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.