December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

नरेंद्र मोदी ने किया टैक्स चोरों पर कड़ा प्रहार, जान लीजिए काला धन से जुड़े ये फैक्ट्स

सरकार ने काले धन पर लगाम लगाने के लिए बड़ा फैसला लेते हुए 500 और 1000 रुपए के नोट पर रोक लगा दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Photo Source: PTI)

सरकार ने काले धन पर लगाम लगाने के लिए मंगलवार (8 नवंबर) को बड़ा फैसला लेते हुए 500 और 1000 रुपए के नोट पर रोक लगा दी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अब 500 और 2000 के नए नोट जारी करेगी। मंगलवार को पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में कहा कि नए नोट जल्द से जल्द सरकुलेट कर दिए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की कि आज आधी रात से 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए जाएंगे। नौ और 10 नवंबर के बीच एटीएम से पैसे निकालने की बंदिश होगी। 11 नवंबर तक अस्‍पतालों में पुराने नोट दिए जा सकेंगे। 9 और 10 नवंबर को एटीएम नोट काम नही करेंगे। 72 घंटे तक पुराने नोट से रेलवे, सरकारी बसों और एयरपोर्ट पर टिकट खरीद सकेंगे। वहीं बैंक ट्रांजेक्‍शन जारी रहेगा। ऑनलाइन पेमेंट, डेबिट, क्रेडिट और डिमांड ड्राफ्ट से भुगतान भी जारी रहेगा। नौ नवंबर को सारे बैंक बंद रहेंगे। आगे से ये सिर्फ कागज का टुकड़ा रह जाएंगे। पुराने नोट के बंद होने के बाद और जो नए नोट जारी किए जाएंगे। मोदी सरकार का यह फैसला काला धन पर रोकने के लिए उठाया गया कदम है। जानिए काले धन से जुड़े कुछ फैक्ट्स –

1.वर्ल्ड बैंक द्वारा जारी किए गए 1999 के आंकड़ों के मुताबिक, देश में मौजूद कुल जीडीपी का 20.7 प्रतिशत पैसा काला धन था। वहीं 2007 में इसका साइज बढ़कर 23.2 प्रतिशत हो गया।

आप अपने 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों के साथ क्या करें, जानने के लिए वीडियो देखें

2. ग्लोबल फाइनेंसियल इंट्रीग्रिटी के मुताबिक, 2002 से 2011 के बीच 344 बिलियन डॉलर ब्लैक मनी भारत से बाहर दूसरे देशों में भेजा जा चुका था। इसके अलावा 2012 में भारत से 94.76 बिलियन डॉलर बाहर भेजे गए थे।

3.कुल 180 देशों में भारत का काला धन है। इसमें से 70 हजार करोड़ रुपए तो सिर्फ स्विस बैंक में ही है। इस बैंक में भारत का सबसे ज्यादा काला धन है। सभी बैंकों में कुल मिलाकर कितना काला धन है यह फिलहाल किसी को नहीं पता।

4.भारत में उस धन को काला धन कहा जाता है जो गलत तरीके से कमाया जाता है और जिसपर सरकार की कोई निगरानी नहीं होती। वह धन जिसपर इनकम और बाकी टैक्स नहीं भरे जाते।

5.भारत सरकार द्वारा इसी साल इनकम डिस्क्लोजर स्कीम भी लाई गई थी। यह 1 जून से शुरू की गई थी। इसमें सरकार ने ऐसी संपत्ति जिसका अब तक कर विभाग के समक्ष खुलासा नहीं किया गया था, उसके खुलासे के लिए यह एकबारगी योजना पेश की गई थी। इसमें 45 प्रतिशत कर एवं जुर्माने का भुगतान कर करदाता अपनी स्थिति को पाक-साफ कर सकते हैं। इसमें 65,250 करोड़ रुपए के कालेधन का खुलासा हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 11:19 am

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग