ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के बुरे दिन दूर नहीं: बीएसपी सुप्रीमो मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने पुराने नोटों को बंद करने के केंद्र सरकार के फैसले को तानाशाही बताते हुए कहा है कि इस सरकार के बुरे दिन दूर नहीं।
Author लखनऊ | November 11, 2016 18:52 pm
बीएसपी सुप्रीमो मायावती (Source: PTI/File)

बसपा सुप्रीमो मायावती ने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने के केंद्र सरकार के कदम को तानाशाही और अहंकार से भरा बताते हुए आज कहा कि देश के करोडों गरीबों और मेहनतकशों को इससे पीडा हो रही है और जब सरकार इस पीडा को समझ ना पाए तो उसके बुरे दिन दूर नहीं। मायावती ने एक बयान में कहा, ‘‘भाजपा के इस तानाशाही और अहंकारी व्यवहार की सजा जनता उसे जरूर देगी। ये आर्थिक आपातकाल लगाने वाला फैसला है। इससे देश के करोडों गरीबों और मेहनतकशों को पीडा हो रही है। उनकी पीडा को अपना समझकर बसपा ने केंद्र के फैसले पर कल कडी प्रतिक्रिया दी थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब देश की शासक पार्टी देशवासियोें और आम नागरिकों की पीडा नहीं समझ पाये तो ऐसी सरकार के बुरे दिन दूर नहीं हैं। यह जनता में आम चर्चा भी है।’’

वीडियो: 500, 1000 के नोट बंद होने का असर; उत्तर प्रदेश में मिले जले हुए नोट

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस फैसले को बसपा के लिए आर्थिक आपातकाल करार दिया था, जिस पर मायावती ने कहा कि शाह को शायद मालूम नहीं है कि जमीन से जुडे बसपा के छोटे बडे कार्यकर्ताओं ने कठिन से कठिन समय में भी अपनी पार्टी को आर्थिक तकलीफ नहीं होने दी है और वे पूरे तन, मन, धन से बसपा मूवमेंट (आंदोलन) को सहयोग करते रहे हैं, जिससे पूरा देश वाकिफ है। बसपा सुप्रीमो ने केंद्र और भाजपा को सलाह दी है कि वह इस अपरिपक्व फैसले में जो गंभीर कमियां हैं, उन्हें छिपाने की बजाय जल्द दूर करने का प्रयास करे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Raju
    Nov 14, 2016 at 11:17 am
    ये तो होना हैं
    Reply
सबरंग