ताज़ा खबर
 

गुजरात में बोले मनमोहन सिंह: कानूनी डकैती थी नोटबंदी, भारत के बजाय चीन को हुआ फायदा

सिंह ने नोटबंदी को बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में उठाया गया कदम बताया और कहा कि इसके किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हुई।
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह।(File Photo)

गुजरात में मंगलवार को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नोटबंदी, जीएसटी और बुलैट ट्रेन को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। सिंह ने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी दोनों ही हमारी अर्थव्यवस्था के लिए बहुत खतरनाक कदम हैं। उन्होंने कहा कि इनकी वजह से हमारे छोटे निवेशकों की कमर टूट गई है। अहमदाबाद में व्यापारियों को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, ‘कल हम उस विनाशकारी पॉलिसी की पहली वर्षगांठ मनाएंगे, जो हमारे देश के लोगों पर थोप दी गई थी।’ पूर्व पीएम ने भारतीय अर्थव्यवस्था और लोकतंत्र के लिए 8 नवंबर को ‘काला दिवस’ करार दिया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने जो संसद में कहा था, उसे मैं दोहराना चाहता हूं। यह एक सुनियोजित लूट और कानून डकैती थी।’ सिंह ने नोटबंदी को बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में उठाया गया कदम बताया और कहा कि इसके किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हुई। साथ ही उन्होंने कहा कि जीएसटी के तहत अनुपालन की शर्तें छोटे व्यवसायों के लिए दु:स्वप्न बन गई हैं।

सिंह ने इसके अलावा कहा कि नोटबंदी की वजह से भारतीयों ने चीन से ज्यादा आयात किया है। उन्होंने बताया कि 2016-17 की पहली तिमाही में भारत ने 1.96 लाख करोड़ रुपए का आयात किया था, जो कि 2017-18 में 2.41 लाख करोड़ रुपए हो गया। उन्होंने आयात में अभूतपूर्व वृद्धि के पीछे की वजह जीएसटी और नोटबंदी को बताया, जो कि एक साल में 23 फीसदी बढ़ा है। इसके साथ ही मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी सरकार के बुलैट ट्रेन प्रोजेक्ट की भी आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘बड़ी धूमधाम से शुरु की गई बुलेट ट्रेन परियोजना अहंकार की कवायद है। क्या प्रधानमंत्री नें ब्रॉड गेज रेलवे को अपग्रेड करके हाईस्पीड ट्रेन के विकल्पों के बारे में सोचा है?’

बता दें, बुधवार (8नवंबर) को नोटबंदी को एक साल पूरा हो जाएगा। पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को 500 और 1000 के पुराने नोट बंद करने का एलान किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कदम का विपक्षी दलों ने काफी विरोध किया था। मनमोहन सिंह ने उस वक्त भी कहा था कि यह कदम भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए खतरनाक होगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Nov 7, 2017 at 6:23 pm
    हिन्दोस्तान के वजीरेआजम रह चुके डॉ मनमोहन सिंह ने किसी देसी विद्यापीठ में नहीं बल्कि कैंब्रिज और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटीज से Economics की तालीम हासिल की है और बतौर अर्थशास्त्री , हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और पश्चिमी मुल्कों में उनकी बहुत इज़्ज़त है ! Economics के Matters में डॉ मनमोहन सिंह कभी पॉलिटिक्स नहीं करते और हमेशा देशहित की बात करते हैं ! यदि डॉ मनमोहनसिंह कह रहे हैं की नोटबंदी एक लूट थी तो, उनपर शक करने का कोई सवाल नहीं ! डॉ मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दौरान भीषण मंदी आयी थी और अमेरिका भी adversely affect हुआ था लेकिन डॉ मनमोहन सिंह के कुशल नेतृत्व के चलते , हिन्दोस्तान पर कोई दुष्प्रभाव नहीं हुआ ! सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ , बेहूदे कमेंट्स लिखकर लोग, अपने जाहिलपन का मुज़ाहिरा करते रहते हैं !
    (5)(0)
    Reply
    1. M
      manish agrawal
      Nov 7, 2017 at 6:06 pm
      हिन्दोस्तान के वजीरेआजम रह चुके डॉ मनमोहन सिंह ने किसी देसी विद्यापीठ में नहीं बल्कि कैंब्रिज और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटीज से Economics की तालीम हासिल की है और बतौर अर्थशास्त्री , हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और पश्चिमी मुल्कों में उनकी बहुत इज़्ज़त है ! Economics के Matters में डॉ मनमोहन सिंह कभी पॉलिटिक्स नहीं करते और हमेशा देशहित की बात करते हैं !
      (4)(0)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Nov 7, 2017 at 6:05 pm
        हिन्दोस्तान के वजीरेआजम रह चुके डॉ मनमोहन सिंह ने किसी देसी विद्यापीठ में नहीं बल्कि कैंब्रिज और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटीज से Economics की तालीम हासिल की है और बतौर अर्थशास्त्री , हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और पश्चिमी मुल्कों में उनकी बहुत इज़्ज़त है ! Economics के मा े में डॉ मनमोहन सिंह कभी पॉलिटिक्स नहीं करते और हमेशा देशहित की बात करते हैं !
        (2)(0)
        Reply
        1. S
          sanjay
          Nov 7, 2017 at 4:57 pm
          यदि नोटबंदी कानूनी डकैती है तो २जी, कॉमवेल्थ,कोलगेट,और अन्य घोटाले क्या थे ये भी मनमोहनसिंह स्पष्ट करे तो अच्छा होगा!अर्थव्यवस्था की मंदी,बेरोजगारी महंगाई आदि समस्या को कांग्रेस मोदीजी की नोटबंदी का कारण बता रही है जिससे यह स्पष्ट हो चुका है की मोदीजी की नोटबंदी से कांग्रेस और उसके योगी दल परेशान है ,जनता नहीं है ! मोदीजी के प्रत्येक कालेधन के खिलाफ लिए गए फैसले पर कांग्रेस जनता की आड़ लेकर उसकी परेशानी बताकर परदे के पीछे छिपने की कोशिश कर रही है!जनता की परेशानी समझने वाली कांग्रेस ७० सालो तक समझ नहीं पाई आज वह विपक्ष में जाते ही कैसे समझ पाएगी !कांग्रेस इतनी हताश है की वह जनता को ७०सालो में जागरूक नहीं कर पाई वह कार्य मोदीजी ने चंद महीनो में कर दिया ! कांग्रेस यह बात समझ लेवे की जनता की परेशानी आटादाल चावल की खैरात से दूर नहीं होती है हां वोटबैंक जरूर बन जाता है,जनता की समस्या उसके जागरूकता से सरकारों में उसकी भागीदारी से दूर होती है उसकी राष्ट्रभक्ति से दूर होती है !यदि कांग्रेस यह सबकुछ कर लेती तो आज स्व्छ्य लोकतंत्र इस देश में कायम होता जातिवाद भाषावाद सम्प्रदायरिकता आज नहीं होती!
          (1)(5)
          Reply