March 24, 2017

ताज़ा खबर

 

ट्रिपल तलाक पर केंद्र के समर्थन में मेनिका गांधी, बोलीं- मुस्लिम देशों में मुस्लिम महिलओं को भारत से ज्यादा बराबरी हासिल है

मेनका ने कहा, ‘एक साथ तीन तलाक पर केंद्र का रूख सही है। हमें महिलाओं के अधिकारों के बारे में सोचना चाहिए। यह प्रथा मुस्लिम देशों में नहीं है जहां मुस्लिम महिलओं को ज्यादा बराबरी हासिल है।’

Author October 8, 2016 09:59 am
महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी। (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार की ओर से एक साथ तीन तलाक के मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय में जवाब दाखिल किए जाने के बाद महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने शुक्रवार (7 अक्टूबर) को कहा कि इस्लामी देशों में मुस्लिम महिलाओं को भारत के मुकाबले ज्यादा बराबरी हासिल है। मेनका ने कहा, ‘एक साथ तीन तलाक पर केंद्र का रूख सही है। हमें महिलाओं के अधिकारों के बारे में सोचना चाहिए। यह प्रथा मुस्लिम देशों में नहीं है जहां मुस्लिम महिलओं को ज्यादा बराबरी हासिल है।’

शुक्रवार को ही केंद्र ने एक साथ तीन तलाक, ‘निकाह हलाला’ और बहुविवाह प्रथा का उच्चतम न्यायालय में विरोध किया था। साथ ही, उसने लैंगिक समानता और धर्मनिरपेक्षता जैसे आधार पर इन पर पुनर्विचार करने का समर्थन किया। कानून एवं न्याय मंत्रालय ने अपने हलफनामे में लैंगिक समानता, धर्मनिरपेक्षता, अंतरराष्ट्रीय समझौतों, धार्मिक व्यवहारों और विभिन्न इस्लामी देशों में वैवाहिक कानून का जिक्र किया ताकि यह बात सामने लाई जा सके कि एक साथ तीन बार तलाक की परंपरा और बहुविवाह पर शीर्ष न्यायालय द्वारा नये सिरे से फैसला किए जाने की जरूरत है। मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव मुकुलिता विजयवर्गीय द्वारा दाखिल हलफनामा में बताया गया है, ‘यह दलील दी गई है कि तीन तलाक, निकाह हलाला और बहुविवाह की प्रथा की मान्यता पर लैंगिक न्याय के सिद्धांतों तथा गैर भेदभाव, गरिमा एवं समानता के सिद्धांतों के आलोक में विचार किए जाने की जरूरत है।’

वीडियो: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- ‘तीन तलाक इस्लाम में एक आवश्यक धार्मिक प्रथा नहीं है’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 9:59 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग