ताज़ा खबर
 

IPL स्‍पॉट फिक्सिंग: बरी होने के बाद लगाई सुप्रीम कोर्ट से गुहार- मेरे 500-1,000 रुपये के नोट बदलवा दो

8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने के आदेश दिए थे।
बंद हो चुके 1000 रुपये के पुराने नोट

सुप्रीम कोर्ट में नोटबंदी को लेकर एक और अर्जी दाखिल की गई है। यह याचिका अभिषेक शुक्ला ने दाखिल की है, जिन्हें जुलाई 2015 में 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में बरी कर दिया था। बाद में शुक्ला सुप्रीम कोर्ट पहुंचे और अपने 5 लाख रुपये के पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को आरबीआई से बदलवाले की गुहार लगाई। जो पैसा वह अब बदलवाने की गुहार लगा रहे हैं, वह दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जब्त कर लिया था। साल 2013 में पुलिस ने शुक्ला को बतौर बुकी गिरफ्तार किया था, लेकिन दो साल बाद उन्हें पूर्व क्रिकेटर एस.श्रीशांत समेत सभी आरोपों से बरी कर दिया गया था। उनके वकील मंजीत सिंह आहलूवालिया ने चीफ जस्टिस जेएस खेहर की अगुआई वाली बेंच को बताया कि उनके क्लाइंट शुक्ला को साल 2015 में आरोपमुक्त कर दिया गया था और जो 5.5 लाख रुपये थे, उसे कोर्ट ने दो साल बाद फरवरी 2017 में रिलीज किया गया। जो पैसा प्रशासन ने दिया है वह पुराने 1000 और 500 रुपये की शक्ल में है, जो अब बंद हो चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने का आदेश दिया था। जब शुक्ला मार्च में नोटों को बदलवाने के लिए आरबीआई पहुंचे तो केंद्रीय बैंक ने मना कर दिया। डीएनए की रिपोर्ट के मुताबिक शुक्ला ने कोर्ट को बताया कि यह उनकी गलती नहीं है कि वह पुराने नोटों को बदलवा नहीं पाए, क्योंकि वह हमेशा मलखाना में दिल्ली पुलिस के पास रहे। इस पर सुनवाई करते हुए बेंच ने शुक्ला को पुलिस अधिकारियों द्वारा तैयार किए गए जब्ती मेमो को पेश करने को कहा, ताकि यह साबित हो सके कि यह पैसा स्पॉट फिक्सिंग मामले में जब्त किया गया था। कोर्ट ने कहा कि मेमो ने इस करंसी का रिकॉर्ड जरूर रखा होगा।

शुक्ला ने कोर्ट से गुहार लगाई कि वह केंद्र और आरबीआई को निर्देश दे ताकि उनके पुराने नोट बदले जा सकें। शुक्ला ने कहा कि वह यह भी बताना चाहेंगे कि वह अपना पैसा उस वक्त क्यों नहीं बदलवा पाए, जब केंद्र सरकार ने इसका एेलान किया था। उन्होंने दावा किया कि वह खुद आरबीआई गए थे, लेकिन बैंक ने पुराने नोट लेने से बना कर दिया। आरबीआई ने सरकार के उस अॉर्डिनेंस का भी जिक्र किया, जिसमें 30 दिसंबर 2016 को नोट बदलने की आखिरी तारीख बताया गया है।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.