ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी ने ‘गब्‍बर सिंह’ से की नरेंद्र मोदी की तुलना, कहा- डराने वाली सरकार को कौन वोट देगा?

राहुल के बाद टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार विशेषकर पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला।
ऐसी भी खबरें हैं कि त्रिपुरा में तृणमूल के यह छह विधायक इसी महीने भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

नोटबंदी के मुद्दे को लेकर कुछ विपक्षी दलों ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के आह्वान पर बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक और प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में वह तबियत खराब होने की वजह से नहीं पहुंच सकीं। सोनिया की जगह राहुल ने बैठक की कमान संभाली। प्रेस कान्‍फ्रेंस में राहुल के बाद टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार विशेषकर पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। ममता ने मोदी की तुलना मशहूर खलनायक ‘गब्‍बर’ से करते हुए कहा, ”हम कुछ कह नहीं सकते। अगर आप कहते हैं तो लोग कहते हैं मत करो, नहीं तो गब्‍बर आ जाएगा। ये क्‍या है? सरकार को लोगों का नेतृत्‍व करना चाहिए। अगर लोग सरकार से इतना डरे हुए हैं, तो गब्‍बर सिंह की तरह व्‍यवहार करने वाली सरकार को कौन वोट देगा?” ममता ने 50 दिन के पीएम के वादे पर भी तंज कसते हुए पूछा कि ‘अगर 50 दिन बाद भी चीजें सही नहीं होती तो क्‍या पीएम मोदी जिम्‍मेदारी लेते हुए प्रधानमंत्री पद से इस्‍तीफा देंगे?’

मोदी पर निशाना साधते हुए पं. बंगाल सीएम ने कहा कि ‘मोदीजी ने कहा कि अच्‍छे दिन आएंगे, क्‍या यही अच्‍छे दिन हैं?’ ममता ने कहा कि ‘नोटबंदी बहुत बड़ा घोटाला है, आजादी के बाद सबसे बड़ा। नोटबंदी से देश 20 साल पीछे चला गया है।’ उन्‍होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर तानाशाही करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘यह (मोदी) निडर सरकार है, वे किसी के बारे में कुछ नहीं सोचते। उनका जो मन आता है वही करते हैं, संघीय ढांचा पूरी तरह नष्‍ट कर दिया है। यह आपातकाल नहीं है, यह महा-आपातकाल है।’ ममता ने टूटी-फूटी हिंदी में कहा, ”कैशलेस के नाम पर मोदी गवर्नमेंट बेसलेस हो गया, टोटल फेसलेस हो गया।”

कांग्रेस द्वारा बुलाई गई प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में सभी विपक्षी दलों को आमंत्रित किया गया था जिसमें कांग्रेस, टीएमसी, आरजेडी, जेडीएस, जेएमएम, एआईयूडीएफ के सदस्‍यों ने हिस्‍सा लिया। जबकि बसपा, सपा, एनसीपी, सीपीआई, जेडीयू, सीपीएम जैसे प्रमुख विपक्षी दलों के प्रतिनिधि गायब रहे।

राहुल गांधी ने कहा कि ’30 दिसंबर आने वाला है और हालात वहीं हैं। नोटबंदी का उद्देश्‍य पूरी तरह फेल हो गया है। पीएम को देश को जवाब देना चाहिए कि नोटबंदी का असली मकसद क्‍या था और जो इससे प्रभावित हुए हैं, वह उनके लिए क्‍या करेंगे?’

कानपुर रैली में पीएम मोदी ने पूछा- ‘संसद क्यों नहीं चलने दी?’; कहा- “यूपी में है गुंडाराज”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Avi
    Dec 27, 2016 at 3:40 pm
    भक्तो शुरू हो जाओ....चीखो और चिल्लाओ "कु#या, देशद्रोही, सिक्युलर" और जो भी माँ-बहन की गन्दी-गन्दी गलियां आरएसएस की पाठशाला में सिखाई जाती है....
    (0)(0)
    Reply
    1. D
      Dev Verma
      Dec 27, 2016 at 2:03 pm
      बिग्गेस्त सकेमिस्ट ऑफ़ इंडियन हिस्ट्री कांग्रेस एंड ममता बनर्जी !
      (0)(0)
      Reply
      1. P
        p
        Dec 28, 2016 at 7:00 am
        ममता दीदी इतना क्यों चिल्ला रही हो. गरीब लोग इस तकलीफ को हंस कर झेल रहे है.बंगाल का आदमी अभी भी खाली पेट सोता है. उसके लिये काम करने को आपको बहुमत दिया था जनता ने न की मोदी को गली देने के लिए. मोदी को जो काम देश दिया है वह वो कर रहा है. आप अपना काम नहीं कर रही है. ब्लैक मनी गया तो फेर बना लेना. बंगाल के बारे में सोचो और चिटफंड वालो का साथ छोड़ कर कुछ अच्छा काम करो.मोदी महफील लूट ले गया . अब इसमे कुछ नहीं बचा है.बंद कर दो ये सब.
        (0)(0)
        Reply
        सबरंग