ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र निकाय चुनावों में कांग्रेस ने मारी बाजी, भाजपा-शिवसेना को झटका

महाराष्ट्र के निगम परिषद और नगर पंचायत चुनावों में सत्तारूढ़ दल भाजपा और शिवसेना को नाउम्मीदी का सामना करना पड़ा है और कांग्रेस ने इस चुनाव के जरिए पार्टी को मुकाबले में ला खड़ा किया है.
Author मुंबई | January 13, 2016 01:41 am
कांग्रेस ने निगम परिषद, नगर पंचायत और उपचुनावों में 105 सीटें जीती हैं। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के निगम परिषद और नगर पंचायत चुनावों में सत्तारूढ़ दल भाजपा और शिवसेना को नाउम्मीदी का सामना करना पड़ा है और कांग्रेस ने इस चुनाव के जरिए पार्टी को मुकाबले में ला खड़ा किया है। चुनाव के नतीजे सोमवार रात को घोषित किए गए। इन नतीजो के अनुसार कांग्रेस ने निगम परिषद, नगर पंचायत और उपचुनावों में 105 सीटें जीती हैं। महाराष्ट्र कांग्रेस ने चुनाव नतीजों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि परिणामों ने दिखा दिया है कि जनता का भाजपा से मोहभंग हो चुका है। एनसीपी ने भी परिणामों को लेकर सत्तारूढ़ दल पर निशाना साधा है। भाजपा ने इन नतीजों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं जाहिर की है।

सोमवार रात घोषित नतीजों के अनुसार, कांग्रेस ने महाराष्ट्र में 345 वार्डों के लिए हुए नगर परिषद और नगर पंचायत चुनावों व उपचुनावों में 105 वार्डों में जीत दर्ज कर शानदार प्रदर्शन किया है। जबकि राकांपा (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) दूसरे, शिवसेना तीसरे और भाजपा को चौथे स्थान पर रहकर मात्र 39 सीटों से संतोष करना पड़ा।

रविवार को हुए इन चुनावों के परिणाम सोमवार देर रात घोषित किए गए। गणना के अंतिम आंकड़ों के अनुसार कांग्रेस 105 वार्डों पर जीत दर्ज कर पहले, राकांपा 80 वार्डों पर जीत के साथ दूसरे और शिवसेना 59 वार्डों में जीत के साथ तीसरे स्थान पर रही। रायगढ़, नंदूरबार, अहमदनगर, नांदेड़, उस्मानाबाद, हिंगोली, वाशिम और चंद्रपुर नगर परिषदों और नगर पंचायतों में चुनाव हुए थे। रत्नागिरि, जलगांव, लातूर, यवतमाल, वर्धा और भंडारा में उपचुनाव हुए थे।

भाजपा को सबसे बड़ा झटका अहमदनगर जिले के जामखेड़ और चंद्रपुर में लगा। जामखेड़ गृह राज्य मंत्री राम शिंदे का गृहनगर है जबकि चंद्रपुर का प्रतिनिधित्व महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार करते हैं। इस बीच विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा, परिणाम दिखाते हैं कि कांग्रेस के प्रति लोगों का विश्वास लौट आया है और उनका भाजपा के शासन से मोहभंग हो गया है। ये परिणाम कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुंबई यात्रा से पहले आए हैं। राहुल गांधी 15 और 16 जनवरी को मुंबई के दौरे पर आएंगे।

विधान परिषद में विपक्ष के नेता राकांपा के धनंजय मुंडे ने कहा, ‘ये परिणाम महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना नीत सरकार की असफलता को दर्शाते हैं।’ 59 नगर पंचायत और नगर परिषदों में नवंबर 2015 में हुए चुनाव में भाजपा 254 वार्डों में जीत के साथ पहले स्थान पर रही थी। उस समय कांग्रेस को 239 वार्डों, राकांपा को 201 वार्डों और शिवसेना को 126 वार्डों में जीत मिली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग