ताज़ा खबर
 

धर्मसंकट में मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस: ईद पर शराब बैन की मांग, अगले दिन क्रिसमस

बीजेपी विधायक एकनाथ खड्से ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है, जब ईद पर शराब बैन की मांग हो रही है, लेकिन लेकिन 25 दिसंबर को क्रिसमस भी है। उम्मीद है कि एक दो दिन में सरकार किसी न किसी नतीजे पर पहुंच जाएगी।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस (पीटीआई फाइल फोटो)

ईद-ए-मिलाद पर शराब बंदी को लेकर महाराष्ट्र सरकार दुविधा में फंसती नजर आ रही है। एक तरफ मुस्लिम विधायक ईद के मौके पर शराब बिक्री पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं। वहीं ईद के अगले दिन क्रिसमस है। अब इन दो त्‍योहारों के बीच फंसी राज्य सरकार कोई निर्णय नहीं ले पा रही है। पिछले दिनों मुस्लिम विधायकों के प्रतिनिधिमंडल ने धार्मिक आस्था को ध्यान में रखते हुए ईद के मौके पर शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। ईद पर शराब बिक्री रोकने की मांग पहली बार सरकार के सामने रखी गई है।

बीजेपी विधायक एकनाथ खड्से ने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है, जब ईद पर शराब बैन की मांग हो रही है, लेकिन लेकिन 25 दिसंबर को क्रिसमस भी है। उम्मीद है कि एक दो दिन में सरकार किसी न किसी नतीजे पर पहुंच जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि शुक्रवार को मुस्लिम विधायकों के एक समूह ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को ज्ञापन सौंपकर 24 दिसंबर को शराब बैन की मांग की थी। ईद-ए-मिलाद पैगंबर साहब के जन्‍मदिन पर मनाया जाता है, इसलिए हम चाहते हैं इस दिन शराब बेचने पर रोक लगा दी जाए।

जानकारी के मुताबिक, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व मंत्री नसीम खान ने उस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया, जिसने शराब बैन की मांग की है। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं फडणवीस उनकी मांगों को स्वीकार करें और जिस प्रकार से महावीर जंयती पर, गांधी जंयती पर शराब बिक्री नहीं होती है, उसी प्रकार से ईद के मौके पर भी शराब बैन लगाया जाए। प्रतिनिधिमंडल में एआईएमआईएम के दो विधायक वारिस पठान और इम्तियाज जलील, महाराष्ट्र के सपा प्रदेश अध्यक्ष अबू आजमी और विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्णा पाटिल शामिल थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.